दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल बने बीजेपी सरकार का निशाना !

0

दिल्ली – दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल जी को बीजेपी सरकार निशाना बना रही है। उनसे पूछे जारहे है सवाल। दिल्ली के अस्पतालों में मरीजों को सही तरीके से क्यों नहीं देखा जा रहा है? और मरीजों के घर वालों को गुमराह क्यों किया जा रहा है?काम मरीजों की जाँच क्यों हो रही हो ?और कुछ मरीजों को बेड क्यों नहीं दिए जा रहे है ? ऐसे बहुत सरे सवाल पूछे जा रहे है। साथ ही ये भी कहा जा रहा है कि दिल्ली सरकार ज्यादातर विज्ञापन पर रूपए खर्च किये जा रही है। ऐसा क्यों ?

जबकि दिन व दिन कोरोना बायरस के मरीज बढ़ते जा रहे है। साथ ही ये भी कहा जा रहा है कि कहीं दोबारा लॉकडाउन लगाने की जरुरत न पड़े। क्योकि कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। अगर मरीजों संख्या ज्याद तादात में बढ़ती जाएगी तो अस्पतालों में बेड्स ,और जगह भी कम पड़ने लगेगी। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल जी का यह भी कहना था की भविष्य में हमें बड़ों की आवश्यकता पड़ेगी। और केंद्र सरकार को जरुरत पूरी करनी होगी। ये तो सही है। लेकिन बीजेपी सरकार दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल जी से कहा की दिल्ली के अस्पतालों का बुरा हाल हो रहा है। क्योकि दिल्ली के अस्पतालों में कोरोना बायरस के मरीजों की देखभल सही तरह से नहीं हो पा रही है। क्या कारण है ?

हर एक शहरों में चेकिंग टीम बढ़ाई जा रहीं है। इसका नतीजा भी निकलकर सामने आरहा है। कि ओर शहरों में टेस्टिंग करके पंद्रह से सत्रह हजार मरीज निकाले जा रहे है। लेकिन दिल्ली में क्या कारण है ?जो पांच हजार मरीजों की टेस्टिंग की जा रही है। साथ ही कुछ मरीजों की शिकायतें भी आ रही है। बताया जा रहा है कि मरीजों बेड नहीं दिए जा रहे है। ओर तो ओर मरीजों की देखभाल भी नहीं की जा रही है। और मरीजों के घर वालों की शिकायते भी है। उनके मरीज नहीं मिल रहे है। क्या किया जा रहा है उन मरीजों के साथ ? ये सुप्रीम कोर्ट भी पूछ रहा है। की दिल्ली के अस्पतालों में क्या हो रहा है? साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने देखा है कि कुछ अस्पतालों में कम से कम मरीजों को देखा जा रहा हैं। उन्हें सुप्रीम कोर्ट ने फटकार लगाई है।

सुप्रीम कोर्ट ने ये भी कहा है कि ये समय पार्टियों के लड़ने का नहीं है और नहीं ये समय किसी देश पर अटेक करने का है। ये समय है कोरोना बायरस के शिकार हुए लोगो को देखने का कि मरीजों को अच्छी ट्रीटमेंट मिल रही है या नहीं। और सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अरविन्द केजरीवाल जी हम राजनीती नहीं चाहते जो पिछली बार तुमने कौन – से हाथ कांडों को अपनाया था। उन हाथ कांडों को बंद करना चाहिए। सुप्रीम कोर्ट ने अरविन्द केजरीवाल पर एक टिपणी की है। कि अब मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल की सरकार को जग जाना चाहिए। और दिल्ली के अस्पतालों में जाकर देखिए कि कोनसा मरीज तड़प रहा है। किस मरीज को बेड नहीं मिल रहे है। और दिल्ली के हर एक नागरिक को देखिए। किसको क्या परेशानी हो रही है। और जो पैसा तुम पब्लिशिटी के लिए खर्च कर रहे हो। वो पैसा आप मरीजों पर खर्च कीजिए।

Leave a Reply