CM Kejriwal : आई नेगेटिव रिपोर्ट, अभी किसी से लड़ने का समय नहीं , प्राइवेट अस्पतालों के बेड्स फुल

0

अरविंद केजरीवाल की आई कोरोना रिपोर्ट पर कहा की “जिस तरीके के लक्षण दिखाई दे रहे थे उनके आधार पर लगा कि वे संक्रमित हो चुके हैं | जिसकी वजह से उन्होंने अपना कोरोना टेस्ट कराया | जब कल शाम को रिपोर्ट  तो उसमें वह नेगेटिव आये | इतने बीच उन्होंने अपने आप को घर में ही एकान्त में रखा था | उन्होंने यह भी कहा की में उन लोगों का धन्यवाद करता हूँ , जिन्होंने ने मेरे लिए दुआएँ मांगी | “

अरविंद केजरीवाल की आई कोरोना रिपोर्ट पर कहा की “ जिस तरीके के लक्षण दिखाई दे रहे थे उनके आधार पर लगा कि वे संक्रमित हो चुके हैं | जिसकी वजह से उन्होंने अपना कोरोना टेस्ट कराया | जब कल शाम को रिपोर्ट  तो उसमें वह नेगेटिव आये | इतने बीच उन्होंने अपने आप को घर में ही एकान्त में रखा था | उन्होंने यह भी कहा की में उन लोगों का धन्यवाद करता हूँ , जिन्होंने ने मेरे लिए दुआएँ मांगी | “  अरविन्द केजरीवाल ने कहा की कुछ लोग यह बोल रह है थे की केंद्र सरकार दिल्ली के फैसले को पलट नहीं सकती  | लेकिन DDMA हुई बैठक में LG दिल्ली में सबके इलाज के लिए स्वीकृति दे दी है | इस पर केजरीवाल का बयान था कि  कुछ लोग बोल रहे है की अभी खुद दिल्ली वालो के लिए और बेड्स की आवश्यकता है फिर कैसे दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों का इलाज कैसे होगा ? इस पर केजरीवाल जी ने कहा की अगर LG द्वारा फैसला लिया जा चूका है तो इस पर विवाद या असहमति का समय नहीं है |  15 जुलाई तक दिल्ली वालो के लिए 33000 बेड्स की आवश्यकता होगी | और 31 जुलाई तक 80000 बेड्स की आवश्यकता होगी | ऐसा केजरीवाल का कहना है | बाहर से आने वाले मरीजो के लिए बेड्स की जरुरत के लिए कहा की जितने बेड्स दिल्ली के लोगों के लिए चाहिए, उतने ही बेड्स बाहर से आने वाले लोगों के लिए जरुरत होगी | 15 जुलाई तक अगर 33000 हजार बेड्स चाहिए, तो बाहर के लोगों को मिलकर 65000 बेड्स की जरुरत पड़ने वाली है | 31 जुलाई तक 1.5 लाख बेड्स की जरुरत पड़ने वाली है |   केजरीवाल ने कहा की बहुत साड़ी चिनौतियाँ है | वे खुद ही ग्राउंड पर जाकर देखने वाले है की स्थति कैसी है | उन्होंने कहा की 8 दिनों में 1900 लोगों को एडमिट किया जा चूका है और 4200 बेड्स खली है लेकिन ये बेड्स सरकारी अस्पतालों के है प्राइवेट अस्पतालों के बेड्स खाली नहीं है जिसका वह इन्तेजाम कर रहे है |

अरविन्द केजरीवाल ने कहा की कुछ लोग यह बोल रह है थे की केंद्र सरकार दिल्ली के फैसले को पलट नहीं सकती  | लेकिन DDMA हुई बैठक में LG दिल्ली में सबके इलाज के लिए स्वीकृति दे दी है | इस पर केजरीवाल का बयान था कि  कुछ लोग बोल रहे है की अभी खुद दिल्ली वालो के लिए और बेड्स की आवश्यकता है फिर कैसे दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों का इलाज कैसे होगा ? इस पर केजरीवाल जी ने कहा की अगर LG द्वारा फैसला लिया जा चूका है तो इस पर विवाद या असहमति का समय नहीं है |

15 जुलाई तक दिल्ली वालो के लिए 33000 बेड्स की आवश्यकता होगी | और 31 जुलाई तक 80000 बेड्स की आवश्यकता होगी | ऐसा केजरीवाल का कहना है | बाहर से आने वाले मरीजो के लिए बेड्स की जरुरत के लिए कहा की जितने बेड्स दिल्ली के लोगों के लिए चाहिए, उतने ही बेड्स बाहर से आने वाले लोगों के लिए जरुरत होगी | 15 जुलाई तक अगर 33000 हजार बेड्स चाहिए, तो बाहर के लोगों को मिलकर 65000 बेड्स की जरुरत पड़ने वाली है | 31 जुलाई तक 1.5 लाख बेड्स की जरुरत पड़ने वाली है | 

केजरीवाल ने कहा की बहुत साड़ी चिनौतियाँ है | वे खुद ही ग्राउंड पर जाकर देखने वाले है की स्थति कैसी है | उन्होंने कहा की 8 दिनों में 1900 लोगों को एडमिट किया जा चूका है और 4200 बेड्स खली है लेकिन ये बेड्स सरकारी अस्पतालों के है प्राइवेट अस्पतालों के बेड्स खाली नहीं है जिसका वह इन्तेजाम कर रहे है |  

Leave a Reply