कोरोना बायरस से बचने के लिए कुछ उपाए जाने जो बहुत महत्वपूर्ण है जिससे कोरोना पास नहीं आएगा !

0

सम्पूर्ण विश्व आज कोरोना बाय जैसी खतरनाक बीमारी से लड़ रहा है। दिन व दिन कोरोना बायरस पूरे विश्व को अपनी चपेट में लेता जा रहा है। और दिन पतिदिन लोग कोरोना बायरस के शिकार होते जा रहे है। विश्व में लोग इस महामारी से परेशान है। कोरोना के मरीजों के प्रतिदिन में ग्यारह हजार से ज्यादा मामले समनरे आ रहे है। और आज तक के मरीजों का आंकड़ा भारत तीन लाख बीस हजार को भी पार कर चूका है। अगर पूरे विश्व का आंकड़ा बताएं तो सरसठ लाख छियासठ हजार के आंकड़े को पर कर चूका है। लाख कोशिस कर रहे है इस कोरोना की खतरनाक बीमारी को रोकने की लेकिन ये बीमारी रुकने का नाम ही नहीं ले रही है। ओर तो और इस महामारी को कम करने के लिए लोकडाउन भी लगवादिया पूरे विश्व में फिर भी कोरोना के मरीज निकलते रहे है। लेकिन लोकडाउन होने के कारण मरीज कम निकलते थी। लेकिन जबसे अनलॉकडाउन एक किया है तबसे कोरोना के मरीज ज्यादा निकलने लगे है। लेकिन आज हमारे देश के जाने मने पाँच बड़े एक्सपर्ट्स ने बताया है। कि इस कोरोना की बीमार से हम कैसे बच सकते है। ये पांच बड़े एक्सपर्ट्स के द्वारा बताये गय नुस्खों को अपनाया जाए तो कोरोना बायरस जैसी बीमारी हमारे आस पास आ नहीं सकती। आइए जाने इन पाँच एक्सपर्ट्स के नुस्खे क्या है ?जो हमें कोरोना से बचते है !

पांचों एक्सपर्ट्स के नाम -वैद्य देवेंद्र त्रिगुना , डॉ – प्रियंका मेहंदीरत्ता , डॉ – अंशुमन कुमार , डॉ – शिखा शर्मा , डॉ – योगी अमृतराज ,ये पांच देश के बड़े और महान एक्सपर्ट्स है। जो बता रहे है कोरोना बायरस से बचने के उपाए। इन्होने एक एक करके अपने अपने विचार विमर्श किये जो लोग आसानी से समझ सके और इन नियमों का पालन कर सके।

वैद्य – देवेंद्र त्रिगुना जी का कहना है कि हमको अपना शरीर श्वस्थ रखना होगा। ऐसे पदार्थो का सेवन न करे जो हमें सर्दी ,झुकाम बनती हो। और ज्यादा तर हमें हरी सब्जियों का ही सेवन करना चाहीए। और हमें कड़ा का सेवन करना चाहिए। जिससे हमारे शरीर को शक्ति और फुर्ती भी मिलती रहेगी। और हमरा शरीर स्व्स्थ रहेगा। ऐसा करने से कोरोना जैसी खतरनाक बीमारी हमारे शरीर के पास नहीं आएगी। और हमें सुबह सुबह योगह करना चाहिए। जिससे हमारा शरीर निरोगी हो जाता है।हमें सुबह कड़े को पीना चाहिए जिससे हमारे शरीर को रोगों से काफी रहत मलती है। और शाम के समय हमें दूध में हल्दी डाल कर पीना चाहिए जिससे हमारे शरीर की प्रोटीन की पूर्ति होती रहे। दूध में प्रोटीन अधिक तर पाई जाती है।

डॉ – प्रियंका मेहंदीरत्ता जी का कहना है कि हमारे शरीर में प्रोटीन की कमी नहीं होनी चाहीए। और हमारे शरीर की बिटामिन D , बिटामिन C, बिटामिन Bएक ऐसी बिटमिंस है। अगर इन बिटमिंस की कमी हमारे शरीर में होजाएं तो हमारा शरीर बहुत जल्द इन्फ़ेक्सन को पकड़ लेतात है। इससे हमारे शरीर को अनेक प्रकार के रोग भी उत्पन्न हो सकते है। अगर हमें अपने शरीर को निरोगी बनाना है तो हमें समय समय पर ये बिटमिंस को चेक कराना है। जिससे हम और हमारा शरीर स्वस्थ रहे। और कोई रोग हमारे शरीर को न छुपाए। ऐसा करने से ये कोरोना जैसी खतरनाक बीमारी भी हमारे शरीर से दूर रहेगी और हमारा कुछ बिगाड़ नहीं पाएगी। इसलिए बिटामिन सी हमारे शरीर के लिए बहुत ही लाभदायक है। बिटामिन सी को समय समय पर जरूर चेक कराते रहना चाहिए। यदि हमें अपने शरीर की बिटमिंस की पूर्ती करनी हो तो हमें सुबह साम फलों का सेवन करना चाहिए। क्योकि फलों में ही बिटामिन सबसे ज्यादा होती है। फलों का सेवन करने से हमारे शरीर की कम हुई बिटमिंस की पूर्ती होती है।

डॉ – अंशुमन कुमार जी ने बताया कि अगर हमारे परिवार में कोई मरीज हो चाहे उसे कोरोना बायरस जैसी खतरनाक बीमारी हो या कोई ओर बीमारी हो लेकिन उसके पास इस तरह जाना जरुरी नहीं है। उस मरीज के पास अपने हाथों को अच्छी तरह से धोकर जाएं और जब उसके पास से आएं तो फिर अपने हाथों को अच्छी तरह से धोना चाहिए। ऐसा करने से हम भी सुरक्षित रहेंगे। क्योकि बीमारी कोई सी क्यों न हो एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति पर अपना बायरस छोड़ती जरूर है। किसी भी मरीज को हम हाथों से छुएंगे तो वो मरीज की बीमारी हमारे हाथों पर अपना बायरस छोड़ देती है। और ये बायरस निरोगी को रोगी बना देती है। मर्ज कोई सी हो जोभी व्यक्ति किसी मरीज को अपने लगे हाथों से छुएगा तो मर्ज उसके हाथों पर अपना बायरस जरूर छोड़ेगी। इसलिय अपनी सुरक्षा अपने हाथों में है। डॉ – अंशुमन कुमार जी ने ये भी कहा की अभी कोरोना की बीमारी बड़े जोर सोर से चल रही है ,ऐसे में किसी व्यक्ति को कोई परेशानी हो तो किसी मेडिकल से कोई टेबलेट लेकर उसका सेवन नकारें क्योकि ऐसे में ये घातक बीमारी भी बन सकती है। इसलिए कोई परेशानी हो किसी को तो नजदीकी चिकित्सक को चेक करवाकर दवा ले। अच्छे से हमारी बीमारी का इलाज हो सके।

डॉ – शिखा शर्मा जी ने बताया कि जो डॉ – प्रियंका जी ने कहा बिटमिंस के बारे में तो उनकी बात से मेभी सहमत हूँ। क्योकि हमारा शरीर कमजोर तब होता है जब हमारे शरीर की प्रोटीन्स ,बिटमिंस काम होजाए। तभी हमारा शरीर निरोगी से रोगी होने लगता है। कोइसा भी रोग हो वो हमारे शरीर को तभी पकड़ेगा जब हमारा शरीर कमजोर हो। अगर हमें अपने शरीर को निरोगी बनाए रखना है तो हमें हमेसा अपने शरीर की प्रोटीन्स और बिटमिंस को समय समय पर चेक कराना होगा। और हमें अपने शरीर में किसी की कमी नजर आए तो किसी नजदीकी श्वस्थ्य केंद्र जाकर अपने शरीर की प्रोटीन्स और बिटमिंस की पूर्ती करानी होगी। जिससे हम निरोगी बने रहें। और हमारा शरीर भी स्वस्थ रहे।

डॉ – योगी अमृतराज जी ने बताया की हर एक व्यक्ति को योगह करना चाहिए। ताकि हमारा शरीर निरोगी बना रहे। उन्होने कई योग बताए भी उनमे से एक योग की प्रसंसा ज्यादा की। वो मेग्नेटिक योग है। उन्होंने बताया की इस मेग्नेटिक योग को कम से कम बीस मिनट तक करना चाहिए। जिससे हमारे शरीर को एक नई ऊर्जा मिलती है। इस योग से कोरोना बायरस जैसी खतरनाक बीमारी भी दूर रहेगी। और ये तो हमारी साइंस बताती है की जबतक हम प्रकृति के पास रहेंगे तब तक कोरोना जैसे खतरनाक बीमारी भी हमारे शरीर से दूर रहेगी। इसलिए हम सबको सुबह सुबह कंही नीम का बृक्ष हो या कोई और जगह हो जंहा स्वच्छ वायु का आवागमन हो ऐसी जगह जाकर योग करना चाहिए। ऐसी जगह जाकर योगह करने से हमारे मन को शांति मिलती है। और हमारा शरीर भी स्वस्थ व निरोगी रहता है।

तो हमारे देश के पांच महान एक्सपर्ट्स ने बताया है कि ऐसा करने से हम अपनी इम्युनिटी बढ़ा सकते है। और इस कोरोना बायरस जैसी खतरनाक बीमारी भी हमारा कुछ नहीं बिगड़ सकती है। और हम सब लोग ऐसा करेंगे तो हम अपने आपको और अपने परिवार के सदस्यों को भी सुरक्षित रख सकते है। इससे एक बात तो साबित हुई है की कोरोना जैसी बीमारी हो या कोई और बीमारी हमारे शरीर को छू नहीं सकती है। और हमारा शरीर भी स्वस्थ रहेगा। ये सब हमें अपनी शरीर की इम्युनिटी बढ़ाने के लिए करना बहुत जरुरी है। ये भी सच हे कि हमारे शरीर में रोग तभी उत्पन्न हो ते है जब हमारा शरीर कमजोर हो। तो अगर हमें अपने शरीर को रोगी होने से बचाना है। तो हमें ये सब करना ही होगा। और अगर किसी को कोई परेशानी होती है तो किसी नजदीकी स्वस्थ्य मंत्रालय जाकर अपने शरीर की जाँच करना जरुरी है। वार्ना डॉ – अंशुमन कुमार जी के बताय अनुसार बीमारी हमारे परिवार के किसी भी सदस्य को लग सकती है। क्योकि उन्होंने कहा था कि मर्ज कोई सी भी हो जो मरीज से अपने नंगे हाथ लगेगा उसके हाथों पर अपना बायरस जरूर छोड़ देगा जिससे हमारे घर के सदस्यों में किसी को वो मर्ज हो सकती है। तो अपनी सुरक्षा अपने हाथ है। यदि कोरोना जैसी खतरनाक जैसी बीमारी से बचना है तो इन पांच एक्सपर्ट्स के बताये रास्ते अपनाने होंगे। और हमारी साइंस भी यही कहती है। और इस प्रकृर्ति की बात कारें तो इस प्रकृति में हर एक बीमारी की दवा है। और इस कोरोना जैसी खतरनाक बीमारी की दवा भी हमारी इस प्रकृति के पास है। जो इन एक्सपर्टों ने बताया है उसमे बिलकुल सच्चाई है। इस कोरोना से छुटकारा सिर्फ प्रकृति ही दिला सकती है। अगर हमें निरोगी रहना है तो हमें इन पांचो एक्सपर्ट्स की बताय अनुसार इनके नियमों का पालन करना ही होगा।

Leave a Reply