Kumkum Bhagya 12 November 2020 Written Update: प्राची ने बहुत प्यार अभि को लगाई डांट!

0

Kumkum Bhagya 12 November 2020, Kumkum Bhagya 12 November 2020 Written Update, Zee5,Zee TV, Kumkum Bhagya 12 November 2020 Full Episode, Zee Anmol Kumkum Bhagya Natak Kumkum Bhagya 12 November 2020 Spoiler Alert, Prachi,Pragya

Kumkum Bhagya 12 November 2020 Written Update:

Kumkum Bhagya पिछले एपिसोड में, हमने देख कि कैसे अभि अपने और प्रज्ञा के बचाओ के लिए बिताली को बुद्दू बनाता है और वे किसी के नजरों में आने से बच जाते है| शाहाना प्राची को रणबीर के नाम से चिढाती है| आलिया रिया से प्राची को उसकी जिंदगी से हमेशा – हमेशा के लिए हटाने की बता करती है| इस बीच, आर्यन रणबीर की गलतफेहमी को दूर करता है और उसे सच्चाई से अवगत कराता है| रिया प्राची को अगवाह करवाने के लिए संजू को बुलाती है| रणबीर अपने माँ और पिता से अपनी जिंदगी के बदले में प्राची को मांगता है|

Kumkum Bhagya 12 November 2020 Full Episode

Kumkum Bhagya शो में, इस एपिसोड के शुरूआत में, जब रणबीर अपने माता – पिता से बहुत अनुरोद करता है कि तुम मेरा सब कुछ ले लो लेकिन मुझे प्राची दे दो| ये सुन उसकी दीदा उस पर भड़क जाती है और कहती है कि प्राची इस घर के लायक नहीं है और तेरी सगाई प्राची के साथ नहीं, रिया के साथ होगी| रणबीर की दीदा ये भी कहती है कि तूने उस लड़की की बजह से मुझसे इतनी ऊँची आवाज में बात की| ये सुन रणबीर अपनी दीदा से मांफी मांगता है और प्राची से शादी करने को कहता है|

प्राचीका नाम सुन कर उसकी दीदा को दिल का दोरा पड़ जाता है और उसके मोम – डेड उसे वहां से बाहर जाने को कहते हैं| तब विक्रम भी रणबीर से कहा देता है कि तेरी शादी सिर्फ रिया के साथ होगी और इस घर में जो कुछ हो रहा है उसका कारण प्राची है| ये सुन वो अपनी माँ से प्राची के बारे में कहता है, तो पल्लवी भी उस पर भड़क जाती है और रणबीर को बाहर भगा देती है|

इधर संजू और उसका दोस्त आलिया के पास पहुँच जाते हैं और आलिया उसे प्राची को अगवाह करने की योजना बताती है| तब उसके दोस्त ने कहा कि हम उसे अगवा करंगे, तो वो बहुत चिल्लाएगी और कोई हमें देख भी सकता है| ये सुन कर आलिया संजू को सरदार के कपडे दे देती है और कहती है कि तुम ये कपडे पहन कर आओगे, तो तुम्हे कोई पहचान नहीं पाएगा| आलिया संजू से ये भी कहती है कि प्राची को अगवाह कर के उसे इतनी दूर ले जाना, जहाँ तुम और उसके आलावा कोई न हो| ये सुन कर संजू बहुत खुश हो जाता है और कपडे लेकर चला जाता है|

इधर रणबीर मैदान में जा कर बहुत दुखी होता है और बीती हुई बातों को ले कर बहुत रोता है| तब प्राची उसे देख कर अपने गले लगा लेती है और कहती है कि रणबीर मैं तुम्हारे साथ हमेशा रहूंगी| तब प्राची रणबीर को बता देती है कि मैं भी तुमसे बहुत प्यार करती हूँ| ये सुन रणबीर को बहुत ख़ुशी मिलती है| फिर प्राची उसे मुस्कराने को कहती है और रणबीर उसे मुस्कराकर दिखाता है| फिर प्राची सरिता आंटी के पास कैट्रीन में चली जाती है|

इधर अभि कैट्रीन में सरिता आंटी के पास आ जाता है और सरिता आंटी सोच में पड़ जाती है कि ये प्रज्ञा से मिलने के लिए यहाँ आया है लेकिन प्रज्ञा अपने पती के अलावा किसी से प्यार नहीं करती है| जब अभि सरिता आंटी से कहता है कि तुम कुछ बोल क्यों नहीं रही हो| ये सुन सरिता जी उसे बता देती है कि प्रज्ञा अपने पती से बहुत प्यार करती है| ये सुन कर अभि बहुत खुश हो जाता है| फिर सरिता आंटी प्रज्ञा के पास चली जाती है| तब अभि एक फल उठा कर चाकू से काटता है और उसका हाथ कट जाता है|

प्राची अभि के हाथ से खून बहते देख लेती है और अभि को बहुत प्यार से डाटती है| फिर अभि के हाथ से निकले खून को एक टिसू पेपर से साफ करती है कि तुम्हे क्या जरुरत थी काटने की, किसी वैटर से कटवा लेते| अभि प्राची को बहुत प्यार से देखता है और कहता है कि ये बिलकुल अपनी माँ की तरह है| ये सुन प्राची चौंक जाती है और कहती है कि तुम बात तो ऐसे कर रहे हो कि तुम मेरी माँ को वर्षों से जानते हो| ये सुन कर अभि प्राची को बताता है कि मैं तुम्हारी माँ को सालों से जनता हूँ|

प्राची सुन कर चौक जाती है और अभि प्राची को बताने की कोशिश करता है कि वह उसका कौन है लेकिन तब तक प्रज्ञा आ जाती है और प्राची को सरिता जी के पास भेज देती है| तब अभि से कहती है कि तुम क्या कर रहे थे कुछ अंदाजा भी है| ये सुन कर अभि ने कहा कि मैं बदला ले रहा था क्योंकि तुम मेरी बेटी रिया से मिली और उसको गले लगाया था, जब उसको तीर लगने वाला था| तब प्रज्ञा ने कहा कि उसकी जगह कोई और भी होता, तो मैं उसको भी बचाती| फिर अभि और प्रज्ञा आलग हो जाते हैं|

प्रज्ञा सोचती है कि जितना मैं उनके पास आती हूँ, उतनी ही मैं उनके करीब आती जा रही हूँ|

इधर प्राची सरिता आंटी के पास पहुँच जाती है और उसे पूछती है कि तुमने मुझे बुलाया था| तब सरिता जी मना कर देती है कि मैंने नहीं बुलाया| फिर प्राची सोच में पड़ जाती है कि माँ ने मुझे एसा क्यों कहा कि सरिता जी बुला रही हैं| तब वहां संजू और उसका दोस्त सरदार कर भेष बदल कर आ जाते हैं और प्राची को घूर – घूर कर देखता हैं लेकिन सरिता आंटी उसे देख लेती है| तब सरिता जी ने संजू से कहा कि तू ऐसे क्या देख रहा है और वो पानी का बहाना लगा देता है|

फिर सरिता आंटी अपने काम में लग जाती है और संजू प्राची को बेहोश कर एक बोरी में बंद कर लेता है| जब सरिता आंटी प्राची को देखती है लेकिन प्राची वहां नहीं थी| जब उसे पूछा, तब संजू बताता है कि वो इधर गई है| जब संजू बोरी उठाता है, तब सरिता आंटी ने कहा कि इस बोरी में क्या है? ये सुन कर वो अपना सामान बता देता है और वहां से चला जाता है| लेकिन सरिता आंटी उसका पीछा करती है कि कहीं ये मेरी कैट्रीन का सामान तो नहीं लेजा रहा है|

फिर सरिता आंटी संजू को आवाज लगाती है और वो घबरा जाता है| लेकिन सरिता को कोई जबाब नहीं देता है और भागने लगता है| फिर सरता जी प्राची को फोन लगाती है और उसके फोन की आवाज संजू की बोरी में से आती है| फोन की आवाज सुन कर सरिता आंटी को पता चल जाता है कि प्राची इस बोरी में बंद है|

‘अब आगे की कहानी आने वाले एपिसोड में,

Leave a Reply