Kumkum Bhagya 17 November 2020 Written Update: प्रज्ञा और अभि के मिलने के बाद प्रज्ञा को पता चला रिया का सच!

0

Kumkum Bhagya 17 November 2020, Kumkum Bhagya 17 November 2020 Written Update, Zee5,Zee TV, Kumkum Bhagya 17 November 2020 Full Episode, Zee Anmol Kumkum Bhagya Natak Kumkum Bhagya 17 November 2020 Spoiler Alert, Prachi,Pragya

Kumkum Bhagya 17 November 2020 Written Update:

Kumkum Bhagya के पिछले एपिसोड में, हमने देखा कि कैसे अभि प्राची को जलती हुई आग से बचाता है और प्रज्ञा अभि को बचाने के लिए मदत मांगती है| अंजली दादी प्रज्ञा को लेने उसके घर आती है और अभि के साथ आरती करने को कहती है| प्रज्ञा को अभि के घर जाते वक्त संजू का दोस्त मिलजाता है और प्रज्ञा को बताता है कि प्राची को अगवा करने के लिए रिया ने कहा था| फिर वह अभि के घर पहुँच जाती है और प्रज्ञा अभि के साथ दिवाली की आरती करती है| फिर अंजली दादी उन्हें अपने कमरे में ले जाती है और एसा होने से बिताली, राज, आलिया और उसका परिवार ना खुश हो जाते हैं|

Kumkum Bhagya 17 November 2020 Full Episode

Kumkum Bhagya शो में, इस एपिसोड की शुरुआत में, जब अंजली दादी प्रज्ञा को अपने कमरे में ले आती है| तब अलमारी में से दलजीत की अंगूठी निकालते वक्त अभि को देख लेती है और बहाना बना कर बाहर चली जाती है, ताकि अभि और प्रज्ञा एक दूसरे मिल सके और बातें कर सके| फिर अंजली अभि को बुलाती है और उसे प्रज्ञा के पास छोड़ कर चली जाती है| दादी के जाने के बाद प्रज्ञा और अभि एक दूसरे से बहुत सारीं बातें करते हैं| अभि प्रज्ञा को अपने पास देख कर बहुत खुश होता है और प्रज्ञा भी खुशी फील करती है|

इधर रणबीर प्राची को अपने कमरे में उसकी आँखे बंद कर लाता है और जब प्राची अपनी आँखें खोलती है तो उसे जलते हुए दीपक दिखाई देते हैं, जिसमे लिखा था, हैप्पी दीवाली ,प्रान्बीर ‘ प्राची ये सब देख कर बहुत खुश हो जाती है और रणबीर से प्रान्बीर का मतलब पूछती है| तब वो उसे बताता है कि प्राची का ,प्र’ और रणबीर का ,अनबीर’ जिसका अर्थ होता है दो जिस्म एक जान| ये सुन कर प्राची रणबीर को बहुत प्यार से देखती है और अचानक वहां रिया आ जाती है| रिया को देख कर रणबीर और प्राची छुप जाते हैं|

इधर पल्लवी रणबीर की दादी को एकांत में लेकर आती है और प्राची को लेकर अपने आप पर सर्म महशुस करतीं हैं| क्योंकि पल्लवी और रणबीर की दादी प्राची से बुरा – भला तो  जरुर कहतीं थी लेकिन बाद में अवशोस करतीं थी| फिर पल्लवी अपनी सासू माँ से कहती है कि उस दिन रणबीर और रिया की सगाई नहीं हो पाई थी| तब रणबीर की दादी कहती है कि उनकी सही अब करादेना क्योंकि अब यहाँ प्राची और उसकी माँ तो हे नहीं, जिससे हमें कोई परेशानी होगी| ये सुन कर पल्लवी बहुत खुश हो जाती है और वहां से चली जाती है|

इधर रिया के मोबाइल पर किसी का कॉल आ जाता है और उसे रणबीर के कमरे से जाना पड़ता है| रिया के जाने के बाद रणबीर और प्राची बहुत खुश होजाते है| तब प्राची उसे पूछती है कि हम छुपे क्यों? तब रणबीर उसे बताता है कि अभी हमें कोई इस तरह देख लेगा तो तुम्हारे बारे में गलत सोचेगा| ये सुन कर प्राची रणबीर को बहुत प्यार भरी नजरों से देखती है|

इधर सरिता आंटी वहां आ जाती है और ठीक पल्लवी के सामने खड़े होकर प्रज्ञा को इधर – उधर देखती है लेकिन पल्लवी सरिता जी को नहीं देख पाती है| फिर सरिता आंटी को प्रज्ञा तो नहीं मिलती लेकिन उसे शाहाना मिल जाती है और शाहाना सरिता आंटी से प्राची के बारे में पूछती है कि वो कहाँ है? तब सरिता आंटी ने उससे कहा कि वो तो तेरे साथ थी तो उसके बारे में तुझे मालूम होनी चाहिए| फिर सरिता आंटी अपने अनुमान से बताती है कि प्राची रणबीर के साथ होगी|

ये सुन कर शाहाना सरिता जी को पूछती है कि तुम एसा कैसे कह सकती हो? तब सरिता जी कहती है कि तुझे कही रणबीर दिखा, उसने कहा नहीं तो फिर इस पार्टी में सब लोग दिख रहे है लेकिन वही दोनों नहीं दिख रहे है| तो पक्का वे दोनों एक दूसरे के साथ होंगे|

इधर अभि और प्रज्ञा एक दूसरे से बहुत प्यारी – प्यारी बातें करते है और अभि प्रज्ञा को थोडा चिढाता है| तब अभि प्रज्ञा से कहता है कि सब लोग मेरे बारे में क्या कहते है, उससे मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता लेकिन तुमसे पड़ता है| ये सुन कर प्रज्ञा बहुत खुश हो जाती है और अभि के गले लग जाती है| ये सब कुछ अंजली दादी एक खिड़की से देख – देख कर बहुत खुश होती है लेकिन दादी गलती से बास गिरा देती है, जिससे वे डिस्टर्ब हो जाते हैं और अंजली दादी को देख लेते हैं| फिर दोनों दादी के पास आते हैं और उन्हें आराम करने को कहते है|

फिर अंजली दादी अभि को दलजीत की अंगूठी देती है, जो दलजीत ने प्रज्ञा के लिए बंबई थी| तब अभि उस अंगूठी को प्रज्ञा की अंगुली में पहना देता है और अंजली दादी का प्यार देख कर प्रज्ञा और अभि दादी के गले से लग जाते है| तभी सामने से रिया आती है लेकिन अभि, प्रज्ञा और अंजली दादी को नहीं देख पाती है| जब रिया अपने कमरे से फिर वापिस लोट कर आती है, तब प्रज्ञा रिया को देख लेती है और उससे बात करने के लिए उसके पीछे चली जाती है|

इधर सरिता आंटी और शाहाना रणबीर के कमरे में आ जातीं हैं और रणबीर को प्राची का हाथ पकडे देख लेतीं हैं| प्राची का हाथ पकडे देख सरिता जी रणबीर को बहुत डांटती है और रणबीर शांत होकर उनकी डांट खता रहता है| फिर सरिता जी रणबीर को खुश होकर दुहाई देती है कि हाथ मत पकड़ो, ये उम्र तो एक दूसरे के गले से मिलने की है| ये सुन कर रणबीर को बहुत ख़ुशी मिल जाती है और सरिता आंटी के गले से लग जाता है| फिर रणबीर को किसी का कॉल आ जाता है और वो चला जाता है|

तब सरिता आंटी और शाहाना प्राची को चिढाती है और वह सर्माकर चली जाती है|

इधर प्रज्ञा का रिया पीछा करती है| तब रिया किसी से पैसे के बारे में फोन पर बात कर रही थी और प्रज्ञा रिया के पीछे जाती है| तभी प्रज्ञा के मोबाइल पर सरिता आंटी का फोन आ जाता है और प्रज्ञा प्राची को रिया के बारे में पूछती है कि तुझे रिया केसी लगती है| प्राची ने कहा कि मैं कुछ समझी नहीं माँ| फिर प्रज्ञा बताती है कि घर से आते वक्त मेरा एक्सीडेंट एक बाइक से हुआ था लेकिन उस बाइक पर संजू का दोस्त था और उसने मुझे बताया कि रिया ने पैसे दे कर संजू से तुझे अगवा करवाया था|

ये सुन कर प्राची मना कर देती है कि रिया एसा घिनोना काम नहीं कर सकती है, जरुर उसने तुमसे झूंठ बोला होगा| प्रज्ञा प्राची की बात को सच मान लेती है और अपनी दूसरी बेटी रिया को दीवाली विष करने उसके पीछे चली जाती है|

इधर अभि प्राची को सरिता जी के साथ देख कर उसे अपने पास बुलाते हैं और उसे दीवाली विष करते है| लेकिन प्राची मिलते वक्त अभि की आँखों से आंशू निकल आते हैं| तब अभि की आँखों में आशू देख कर शाहाना और सरिता जी के मन में सवाल उठते हैं| फिर प्राची अभि से पूछती है कि शर मुझे बचाते वक्त तुमने ये क्यों कहा था कि मैं एक बार अपनी बेटी को खो चूका हूँ दोबारा नहीं खोना चाहता हूँ|

फिर अभि प्राची को बताता है कि तुम मेरी बेटी जैसी तो हो फिर तुम मेरी बेटी जैसी कहाँ तुम तो मेरी बेटी हो इसलिए मेने कह दिया था| ये सुन कर प्राची अभि से कहती है कि सही कहा शर जब – जब मुझ पर कोई परेशानी आई है, तब – तब तुमने मेरी मदत की है| ये सुन कर अभि उसकी माँ को बहुत आच्छा बताते हैं और प्राची को अपने गले से लगाते हैं, फिर चले जाते हैं|

इधर रिया संजू को पैसे देती है और कहती है कि ये पैसे लेकर तुम यहाँ से कहीं बहुत दूर चले जाओ और भूल कर भी तुम प्राची के सामने भी नहीं आना| ये सुन कर संजू को गुस्सा आ जाता है और रिया से कहता है कि मैं प्राची से बहुत प्यार करता हूँ| तभी वहां प्राची की माँ, प्रज्ञा आ जाती है और उन्हें देख लेती है| प्रज्ञा रिया और संजू की बातें भी सुन लेती है| फिर जब रिया और संजू प्रज्ञा को वहां देखते है, तो उनके होश उड़ जाते हैं|

इधर आर्यन रणबीर से कहता है कि तुम प्राची के साथ थे| रणबीर हाँ कहता है और आर्यन को भी किसी लड़की से प्यार करने को कहता है| लेकिन आर्यन कहता है कि मुझे अभी प्यार करने वाली लड़की नहीं मिली है| ये सुन कर रणबीर कहता है कि शाहाना से तू प्यार करले, उसका नाम सुनते ही आर्यन वहां से भाग जाता है|

इधर रणबीर और प्राची एक दूसरे से टकरा जाते हैं| फिर कुछ देर वे दोनों बाते करते हैं और चले जाते हैं लेकिन उन्हें आलिया बात करते देख लेती है और कहती है कि प्राची तू रणबीर के साथ खड़ी हुई अच्छी नहीं लगती है|

(‘अब आगे कि कहानी आने वाले एपिसोड में,) 

Leave a Reply