Kundali‌ ‌Bhagya‌ ‌3 ‌September‌ ‌2020‌ ‌Written‌ ‌Update : प्रीता अपने अधिकार के लिए पहुंची लूथरा हाउस, करण की रिक्वेस्ट को किया खारिज

0

Kundali‌ ‌Bhagya‌ ‌3 ‌September‌ ‌2020‌ ‌Written‌ ‌Update,‌ ‌ Kundali‌ ‌Bhagya‌ ‌3 ‌September‌ ‌2020,‌ ‌ Kundali‌ ‌Bhagya‌ ‌3 ‌September‌ ‌2020‌ ‌Spoiler‌ ‌Alert,‌ ‌ Kundali‌ ‌Bhagya‌ ‌3 ‌September‌ ‌full‌ ‌episode‌ ‌ Zee5,‌ ‌ Zee‌ ‌TV,‌ ‌ Kundali‌ ‌Bhagya‌, Preeta,Mahira, Sharlin, Karan

Kundali‌ ‌Bhagya‌ ‌3 ‌September‌ ‌2020‌ ‌Written‌ ‌Update 

कुंडली भाग्य के पिछले एपिसोड में किस तरह दादी माहिरा कि शादी करण से करने का फैसला लेती है | इस फैसले को सुनकर राखी हैरान हो जाती है | अंत में करण भी माहिरा से शादी करने को तैयार हो जाता है | वहीँ सरला प्रीता को अपने हक़ और लूथरा परिवार को माहिरा और शर्लिन से बचाने का मनोबल बढाती है | सरला प्रीता को वापस उस घर में अपना अधिकार पाने के लिए कहती है |

Kundali‌ ‌Bhagya‌ ‌3 ‌September‌ ‌2020‌ ‌Upcoming Story

कुंडली भाग्य के आज के लेटेस्ट एपिसोड में, करण प्रीता से कहता है की ये क्या बकवास है तब NGO की तरफ से आई अधिकारी कहती है आप इस तरह से बात नहीं कर सकते | तभी रमोना बीच में बोलती है तब NGO अधिकार प्रीता से पूछती है, ये कौन है ? बड़ी तीखी है तुम्हारी सास है ? इस प्रीता कहती है ये इस घर की मेहमान है | फिर करीना बीच में बोलती है, तब NGO अधिकारी फिर पूछती है ? की ये तुम्हारी सास है ? प्रीता फिर से मना कर देती है | तब प्रीता NGO अधिकारीयों को एक – एक करके घर के सदस्यों से परिचय कराती है | Kundali Bhagya 4 September 2020 Written Update : करण प्रीता से शादी करने का सच कबूल कर पायेगा ?

प्रीता अंत में करण का परिचय कराती है और कहती है की, हम दोनों को कुंडली भाग्य ने एक दूसरे के लिए चुना है | और ये कभी – कभी मिलने वाला रिश्ता अब साथ रहना हो गया है | आगे कहती है, ये जितने अच्छे इन्सान है उतने अच्छे क्रिक्केटर भी है, मेरे पति करण लूथरा है | प्रीता NGO अधिकारी से बात करवाने से पहले लूथरा परिवार से कहती है, मैं अपने घर में आयीं हूँ |

वहीँ दूसरी तरफ प्रथ्वी सरलां के घर पर होता है और सरला से कहता है, आप सुको दामाद मानती हो जो प्रीता को पत्नी नहीं मानता | आगे कहता है, फिर से प्रीता के ससुराल वालों ने उसे धक्के मारकर घर से बाहर निकाल दिया | प्रथ्वी सरला से प्रीता को समझाने के लिए कहता की, छोड़ दो वो गली जहाँ पर केवल बदनामी है, पकड लो वो गली जहाँ पर केवल प्यार है | आगे कहता है की, बोलो उसे करण को छोड़ कर मेरे साथ आने को, मैं हमेशा खुश रखूँगा और इज्जत करूँगा |

प्रथ्वी सरला से कहता है , ये एक्सचेंज ऑफर आज के लिए है , करण लूथरा को छोड़े मेरे पास आ जाये | आगे कहता है, आज मैं चला गया तो प्रीता कुवांरी रह जाएगी | और आप बे दामाद हो जायेंगी | आगे कहता है, की प्रीता अरोड़ा करण के लिए कितना गिर गयी | और करण गिरी हुई प्रीता की तरफ देखता तक नहीं है | ये सुनकर सरला प्रथ्वी को थप्पड़ मारने वाली होती है, लेकिन प्रथ्वी सरला का हाथ पकड लेता है |

वहीँ प्रीता लूथरा हाउस में, करण से कहती है की “माँ कहती है, जहाँ लड़की की शादी होती उसका वहीँ घर होता |” इस करण प्रीता को घर से बाहर निकल जाने के लिए कहता है | और NGO अधिकारी से कहता है “आप इसकी बातों में मत आये, ये ड्रामा कर रही है | ये ना इसका घर है और ना ही मेरी पत्नी  |” 

करण प्रीता से कहता है ,”मैं तुम्हारे इरादों को कभी कामयाब नहीं होने दूंगा |” तभी माहिरा करण के पास आती है और कहती की , “तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई, मेरे करण से इस तह बात करने की |” तभी प्रीता माहिरा से कहती है, “आज तो हिम्मत कर ली, लेकिन आज के बाद हिम्मत मत करना, मेरे करण को अपना करण कहने की |” 

करण कहता है. “अब याद आ रहा है की ये सब हक़ मैंने तुमको दिए थे |” इस NGO की अधिकारी कहती है की , करण ने खुद स्वीकार किया है की उनकी शादी पहले ही हो चुकी है, तो आप सभी लोग सुन लीजिये, प्रीता आज से इसी घर में रहेगी | इस पर शर्लिन NGO अधिकारी से कहती है, आपने ने कहा और हम सब मान लेंगे, NGO अधिकारी कहती है, करण ने प्रीता को पत्नी नहीं माना तो धोका धडी का केस कर देंगे |

कुंडली भाग्य के नाटक में आगे – करण प्रीता को अपनी पत्नी मानने से इंकार कर देता है और प्रीता का बैग उठाकर घर से बाहर फैंक देता है |

वहीँ प्रथ्वी ने सरला का हाथ पकडे हुए होता है | जिसे जानकी छोडाने की कोशिश करती है | लेकिन प्रथ्वी जानकी को फिर से धक्का देने की धमकी दे देता है | प्रथ्वी सरला से कहता है, मैंने क्या बोला है जो मुझे बार – बार थप्पड़ मारना चाहती हो | प्रथ्वी आगे कहता है , “मैं कोई कुत्ता नहीं हूँ, जब पुचकार दिया या कभी भागा दे |” 

जब सरला का हाथ प्रथ्वी फिर से पकड लेता है, तभी वहां सृष्टि आ जाती है और उसको धक्का मारकर दूर फैंक देती है | प्रथ्वी से कहता है, लड़की है लड़की की औकात में रहे | सृष्टि कहती है तू मेरी औकात दिखायेगा | तू अपनी औकात में रह | 

वहीँ प्रीता NGO अधिकारी से कहती है ये मेरी बेइज्जती कर रहा है | NGO अधिकारी कहती है, जब आप हमारे सामने ऐसे बात कर रहे, पीछे कैसे बात करेंगे | प्रीता कहती है , बहुत बेज्जती से | जब करण प्रीता को गुस्सा कर रहा होता है | तब NGO अधिकारी कहती है आप इस तरह धमकी नहीं दे सकते | NGO अधिकारी दादी से कहती है अपने पोते को समझिए, की पत्नी को पत्नी का दर्जा दे | 

शर्लिन कहती है , दादी को भी प्रीता पसंद नहीं | माहिरा प्रीता और NGO वालो को घर से जाने के लिए कहती है | तब NGO अधिकारी पूछती है, ये लड़की है कौन ? प्रीता कहती है मेरी सौतन |

Leave a Reply