Kundali Bhagya 11 September 2020 Written Update: माहिरा, करण और प्रीता को एक साथ कमरे में जाने से रोक पायेगी ?

0

Kundali‌ ‌Bhagya‌ ‌11 ‌September‌ ‌2020‌ ‌Written‌ ‌Update,‌ ‌ Kundali‌ ‌Bhagya‌ ‌11 ‌September‌ ‌2020,‌ ‌ Kundali‌ ‌Bhagya‌ ‌11 ‌September‌ ‌2020‌ ‌Spoiler‌ ‌Alert,‌ ‌ Kundali‌ ‌Bhagya‌ ‌11 ‌September‌ ‌full‌ ‌episode‌ ‌ Zee5,‌ ‌ Zee‌ ‌TV,‌ ‌ Kundali‌ ‌Bhagya‌, Preeta,Mahira, Sharlin, Karan

Kundali Bhagya 11 September 2020 Written Update

कुंडली भाग्य नाटक के पिछले एपिसोड में, किस तरह NGO और पुलिस वालों को करण को गिरफ्तार करने से रोकती है| ऋषभ करण और प्रीता का गृह प्रवेश विडियो कॉल के ज़रिये दिखाता है और सरला और लूथरा परिवार के बड़े लोगों को प्रीता को आशीर्वाद देने के लिए कहता है| माहिरा भी इंस्पेक्टर के जाने के बाद प्रीता को घर से निकालने का प्लान बनाती है| उधर सरला और उसका परिवार खुश होते है की आख़िरकार प्रीता को लूथरा परिवार ने स्वीकार कर लिया| 

Kundali Bhagya 11 September 2020 Full Episode

Kundali Bhagya का आज का नाटक बहुत इमोशनल और कॉमेडी भरा हुआ है| कुंडली भाग्य के एपिसोड में, सरला, प्रीता के बारे में जानने के लिए प्रीता को फ़ोन करती है| सरला इमोशनल इच्छा जाहिर करती है की वो किस तरह प्रीता की अपने हाथो से विदाई नहीं कर पाई और नाही ही पास बैठाकर खूब साड़ी बाते कर पाई| सरला आगे फ़ोन पर कहती है की लड़की में कई सारे रंग होते है वह जहाँ जाती वहां मिल जाती है| 

सरला प्रीता से आगे कहती है की चाहे कितनी भी परेशानी आये लेकिन अपने घर को संभार के रखना है| प्रीता करण के बारे मं बताती है की करण तो मेरे साथ गृह प्रवेश नहीं करना चाहता था उसने मुझे पत्नी इसलिए स्वीकार किया है ताकि वो मुझे गलत साबित कर सके| आगे कहती है महेश पापा की हालत का जिम्मेदार मुझे ही मानता है|

सरला, प्रीता को समझाती है की करण को ग़लतफहमी है और ये ग़लतफहमी तुझे ही दूर करनी है| प्रीता आगे बताती है की करण कहता है की मैंने पैसों के लिए कोई नोटिस भेजा था| इस पर सरला, प्रीता से कहती है ये सब शर्लिन और माहिरा का किया धरा होगा| उन्हीने करण को भडकाया होगा| आगे कहती है तू अच्छी है और करण राजकुमार है| करण चाहे कितना भी लड़ता हो या प्यार करता हो| वो दो मुहं वाला नहीं है| जैसा दीखता है जो है सामने है|         

आगे सरला, प्रीता को सभी रिश्ते जबरदस्ती नहीं प्यार से निभाने होंगे| आगे कहती है, जो तुझे मिलना चाहिए था वो मिल गया| इसे देखकर मैं बहुत खुश हूँ| आगे कहती है की आज शादी की पहली रात है ये रात जिंदगी में एक ही बार आती है और पति-पत्नी एक हो जाते है| 

वहीँ दूसरी तरफ शर्लिन माहिरा को समझाती है की करण उसकी शक्ल देखना भी पसंद नहीं करता| आगे कहती है प्रीता इस घर में पैसों के लिए आई है और प्रीता को गलत साबित केवल करण ही कर सकता है| माहिरा कहती है आज प्रीता का सुहागरात मानाने का सपना टूट जाएगा| और कल मै उसको धक्के मारकर सबके सामने घर से बाहर निकालूंगी|

आगे सरला, प्रीता को फ़ोन पर समझा रही होती है तुम दोनों के गलत फहमी दोस्ती और प्यार से सब दूर हो जाएँगी| आगे समझाती है पति-पत्नी शादी से पहले दोस्त होते है तो उनका रिश्ता और भी गहरा हो जाता है| आगे कहती है तुझे तो करण को क्या अच्छा लगता है और क्या अच्छा नहीं लगता| तो तू करण की सारी गलत फहमी हटा देगी| और सबका दिल जीत लेगी| करण को भी इतना प्यार देना की करण भी तुझे प्यार किया बिना नहीं रह पायेगा| प्रीता अपनी माँ को भरोसा दिलाती है है की वो हमेशा मर्यादा में ही रहेगी| सरला कहती है एक आवाज देना मै दौड़ी चली आउंगी|   

वहीँ करण ऋषभ के कमरे में पहुँच जाता है और ऋषभ से कहता है की तू नीचे NGO और पुलिस के सामने क्या बोल रहा था की हमारे यहाँ गृह-प्रवेश होता है| इस ऋषभ कहता है हाँ, होता है| तभी समीर भी वहां पहुच जाता है और कहता है की उस पुलिस वाली के सामने तुमने झूठ बोला था जो तुमसे हाथ मिल रही थी और सेल्फी ले रही थी| 

ऋषभ, करण और समीर को बाहर जाने के लिए बोलता है और करण कहता है की आज मैं यहीं सोऊंगा| ऋषभ उसको अपने कमरे में जाने के लिए कहता है और तभी दादी वहां आ जाती है और करण को अपने साथ कमरे में सोने के लिए ले जाती है| 

वहीँ आगे सृष्टि, प्रीता की पहली रात को लेकर बहुत खुश होती है| और कहती है की वो आज तक दी के बिना नहीं सोई है और प्रीता की पुरानी यादों को लेकर इमोशनल हो जाती है| फिर सृष्टि समीर को वहां की स्थित अच्छे से जानने के लिए कॉल करती है| लेकिन समीर के फ़ोन उठाने से फले ही कॉल कट जाता है बाद में समीर सृष्टि को सरप्राइज देने के लिए विडियो कॉल करता है|

सृष्टि, समीर से पूछती है की वहां क्या चल रहा है? समीर सृष्टि को बताता है की घर की सारी रस्मे फ़ोन पर दिखाई थी ना | अब सब लोग  सोने जा रहे है| सृष्टि समीर से कहती है आज की रात सोने की नहीं है फिर समीर को याद आता है की सृष्टि प्रीता और करण की बात कर रही है| 

समीर बताता है की प्रीता जी बेडरूम में है और करण गेस्ट रूम में सोयंगे| तब सृष्टि समीर से कहती है आज के दिन दोनों साथ होने चाहिए, अकेले नहीं| सृष्टि, समीर को समझाती है जब तक ये दोनों साथ में नहीं रहेंगे तब तक गिले शिकवे कैसे दूर होंगे| ये दोनों साथ में कितने भी लड़े-झगडे कम से कम परेशानी हल तो होंगी| फिर सृष्टि समीर के साथ करण और प्रीता की सुहागरात मानाने के प्लान बनाती है और समीर को बताई है की करण वो काम जरुर करता है जो प्रीता को पसंद नहीं|               

Leave a Reply