Kundali Bhagya 16 September 2020 Written Update: करण और प्रीता ने बारिश में किया रोमांस

0

Kundali‌ ‌Bhagya‌ ‌16 ‌September‌ ‌2020‌ ‌Written‌ ‌Update,‌ ‌ Kundali‌ ‌Bhagya‌ ‌16 ‌September‌ ‌2020,‌ ‌ Kundali‌ ‌Bhagya‌ ‌16 ‌September‌ ‌2020‌ ‌Spoiler‌ ‌Alert,‌ ‌ Kundali‌ ‌Bhagya‌ ‌16 ‌September‌ ‌full‌ ‌episode‌ ‌ zee anmol kundali bhagya natak Zee5,‌ ‌ Zee‌ ‌TV,‌ ‌ Kundali‌ ‌Bhagya‌, Preeta,Mahira, Sharlin, Karan

Kundali Bhagya 16 September 2020 Written Update

कुंडली भाग्य के पिछले एपिसोड में, प्रीता माहिरा और शर्लिन को जलाने के लिए करण संग रोमांस का नाटक करती है| वहीँ शर्लिन और माहिरा दरवाजे के पीछे सुन्रही दोनों की बातों से बहुत परेशान होती है| वाही समीर वहां आ जाता है और शर्लिन और माहिरा को प्रीता के कमरे के बाहर से भागा देता है| प्रीता और करण की बेड पर सोने को लेकर प्यार भरी नोक-झोंक होती है| करण अपना पिलो लेकर कमरे की बालकनी में जाकर सो जाता है| तभी मौसम ख़राब हो जाता है|

Kundali Bhagya 16 September 2020 Full Episode

कुंडली भाग्य के आज के नाटक में कोई लड़ाई-झगड़ा नहीं बल्कि प्रीता और करण के बीच प्यार भरी नोक-झोक होती है जोकि बहुत फनी और रोमंक्टिक भरी है|

जब प्रीता कमरे की खिड़की बंद करके वापस बिस्तर पर आती है तब अपने-आप से कहती है की उसको क्या लगता है की मैं मरी जा रही हूँ उसकी बॉडी देखने के लिए| आगे कहती है एक तो बाहर मच्छर काट रहे थे और उसको अन्दर बुला रही थी| फिर प्रीता अपने सोने की तैयारी करने लगती है|

वहीँ करण भी बाहर अपने-आप से कहता है की प्रीता मुझे अन्दर आने के लिए ऑफर दे रही थी| और वो मुझे बाहर लॉकआउट करेगी| ये मेरा घर है मैं जहाँ चाहूँ वहां जा सकता हूँ और सो सकता हूँ| तभी बारिश होने लगती है और प्रीता परेशान होने लगती है ये सोचकर की करण का बाहर क्या हाल हो रहा होगा| आगे कहती है की ये कितना अकडू है की खिड़की पर खटखटाकर अन्दर आने के लिए नहीं कह सकता| 

वहीँ करण भी ये सोचने लगता है की बाहर इतनी बारिश हो रही है और अन्दर आने के लिए नहीं कह सकती| पहले तो ये ऑफर दे रही थी| वहीँ प्रीता भी सोचती है की इस बारिश में बीमार ना पड़ जाए| करण भी प्रीता को आता देख| सोने का नाटक करने लगता है| वहीँ प्रीता भी इसको इस तरह से देखकर कहती है की ये सामने से आकर खिड़की खोलने के लिए नहीं कहती| तब तक मैं खिड़की नहीं खोलूंगी|

करण प्रीता को रुकते देख परेशान होने लगता है| प्रीता ये चाहती है की जब तक ये खुद मुहं से आकर नहीं कहता| तब तक वो खिड़की नहीं खोलेगी| ज्यादा बारिश और ठण्ड की वजह से करण खिड़की के पास आकर खड़ा हो जाता है और प्रीता इसे देख खिड़की खोल देती है और करण कमरे में आ जाता है|

दूसरी तरफ माहिरा, करण और प्रीता की सुहागरात के चलते काफी परेशान होती है| और यह भी सोचती है की समीर ने मुझसे इस तरह से बात करने की हिम्मत कैसे की| जब माहिरा समीर के कमरे में बात करने के लिए जाती, तो वह देखती है की समीर सोया हुआ है| और वह वहां से करण के कमरे की तरफ चली जाती है |

वहीँ प्रीता, करण को भीगी शर्ट उतारने के लिए कहती है लेकिन करण मना कर देता है| प्रीता भी तेज़ तूफान देख खिड़की बंद करने के लिए जाती है| लेकिन उससे तेज़ तूफान के चलते खिड़की बंद करने में दिक्कत आती है तो करण पीछे से आकर प्रीता का हाथ पकड़कर खिड़की बंद करने में मदद करता है| यहाँ रोमंटिक सीन शुरू होने लगता है|

यहाँ पर दोनों के बीच खिड़की बंद करने के चलते थोड़ी सी नोक-झोंक शुरू हो जाती है| करण कहता है की खिड़की उसने बंद की| लेकिन प्रीता कहती है की खिड़की उसने बंद की करण केवल मदद की| वहीँ माहिरा भी करण की खिड़की के पास दोनों के बीच जानने के लिए कोशिश करती है लेकिन खिड़की बंद होने की वजह से बस सुनने की कोशिश करती है| 

प्रीता भी करण को घीले कपडे बदलने के लिए कहती है लेकिन करण इस पर कहता है की मैं जानता हूँ की तुम मुझे बिना कपड़ो के देखना चाहती हो| प्रीता इस पर मना कर देती है| इस पर भी दोनों के बीच नोंक-झोंक शरू हो जाती है| जब प्रीता करण से कहती है की तुम अपने कपडे उतारो वरना मैं उतरूंगी| ये बात सुनकर माहिरा वहां से ये सोचकर चली जाती है की आब तो दोनों के बीच सुहागरात भी हो रही है|

वहीँ करण को छींक आने लगती है तब प्रीता और ज्यादा फाॅर्स करने लगती है कपडे चेंज करने के लिए कहती है| फिर प्रीता कमरे के दूसरी तरफ मुहं करके खड़ी हो जाती है| फिर करण शर्ट उतार कर प्रीता के सामने-आकर खड़ा हो जाता है| और प्रीता के पास किस करने के लिए आता है लेकिन करता नहीं है|

प्रीता को बिस्तर नींद नहीं आती है और अलग सोफे पर जाकर सोने के लिए जाती है| फिर प्रीता सृष्टि को याद करती है की वो किस तरह से बारिश के समय साथ में बारिश को साथ में देखते-देखते सो जाते थे|

वहीँ जब प्रीता, करण को मुहँ पर तकिया रखकर सोते देख| उसे हठाने के लिए जाति है तब वह देखती है की करण कांप रहा है और उसको बुखार भी है| तब प्रीता पानी की पट्टी लेकर करण के सिर पर रखने लगती है|         

Leave a Reply