Kundali Bhagya 18 December 2020 Written Update: राखी ने करण और प्रीता को एक होने के लिए की दुआ!

1

Kundali‌ ‌Bhagya‌ ‌18 December ‌2020‌ ‌Written‌ ‌Update,‌ ‌ Kundali‌ ‌Bhagya‌ ‌18 December ‌2020,‌ ‌ Kundali‌ ‌Bhagya‌ ‌18 December ‌2020‌ ‌Spoiler‌ ‌Alert,‌ ‌ Kundali‌ ‌Bhagya‌ ‌18 December ‌full‌ ‌episode‌ ‌ zee anmol kundali bhagya natak Zee5,‌ ‌ Zee‌ ‌TV,‌ ‌ कुंडली भाग्य आज का नाटक कुंडली भाग्य नाटक Kundali‌ ‌Bhagya‌, Preeta,Mahira, Sharlin, Karan

Kundali Bhagya 18 December 2020 Written Update:

Kundali Bhagya के पिछले एपिसोड में, हमने देखा कि कैसे करण और प्रीता सफर में एक दूसरे से बातें करते हैं और हनीमून पर एक दूसरे को समझने की बात भी करते हैं| समीर इमोशनल होकर श्रृष्टि को अपनी प्यार की कहानी सुनाता है और श्रृष्टि समीर को हग कर लेती है और राखी देख लेती है| इस बीच, मायरा अपनी पैकिंग करती है और शेलिन उसे समझती है| राखी श्रृष्टि को लेकर उसकी माँ सरला से मिलने आ जाती है| करण और प्रीता की कार खराब होजाती है और जादव फोन कर मायरा को बताता है कि जैसा हमने चाहा था, वेसी जगह पर करण की कार ख़राब हुई है| मायरा ये सुनकर बहुत खुश हो जाती है|

Kundali Bhagya 18 December 2020 Full Episode:

Kundali Bhagya शो में, इस एपिसोड के शुरुआत में, जब राखी और सरला आपस में बातें करतीं हैं और समीर श्रृष्टि के पास किचिन में चला जाता है| तब राखी सरला से कहती है कि मैं मानती हूँ कि परिवार में कुछ एसे लोग हैं, जिनकी सोच गलत है, उनकी नजरिया गलत है| फिर राखी सरला जी से पूछती है कि एक बात बताइए कि एसा कौन – सा परिवार है, जिस परिवार के लोगों की सोच एक जैसी हो? सब लोग अलग – अलग तो होते ही हैं| लेकिन राखी सरला जी से कहती है कि मैं तुम्हे विश्वास दिलाती हूँ कि जो मेरे घर में छोटी – छोटी प्रोब्लम्स हैं वो वक्त के साथ – साथ सब ठीक हो जाएंगी|

प्रीता को सब लोग अपनाएँगे और उसे ढेर सारा प्यार भी करेंगे| सरला जी कहती है कि जो तुम कह रही हो वो मैं समझ रही हूँ| फिर राखी जी सरला जी को अपने घर आने को कहती है और ये भी कहती है कि आपने अपनी बेटी का विवाह किया है पराया नहीं| फिर सरला राखी की बात को मान जाती है और उसके घर आने को तैयार हो जाती है|

इधर करण और प्रीता पैदल चलते हैं और प्रीता थक जाती है| करन प्रीता से कहता है कि तुम मोटी हो गई हो लेकिन मैं कहता था कि थोडा टहल लिया करो लेकिन टहलने जाते नहीं हो तो थकेंगे ही| प्रीता करण से कहती है कि तुम चाहे कुछ भी कहो लेकिन अब मुझसे नहीं चला जाएगा| फिर करण प्रीता को दो ओक्संस देता है कि या तो हम तुम यही रह कर मिकेनिक का इन्ताज करें और किसी पेड के नीचे हनीमून मनाले और दूसरा ओक्सन ये है कि तुम थोड़ी दूर तक चलो तो आगे ढावा मिल जाएगा|

प्रीता कहती है कि तुम मुझे उठाकर ले चलो, चाहे कुछ भी करो लेकिन मैं अब और नहीं चल पाऊँगी लेकिन करण चलने लगता है और प्रीता बैठ जाती है| फिर करण को मजबूर होना पड़ता है और प्रीता को अपनी बाँहों में उठाकर ले जाता है|

इधर श्रृष्टि चाए बनाती है लेकिन उसे अधरक नहीं मिलता है और समीर आ जाता है| श्रृष्टि समीर से पूछती है कि तुम यहाँ क्या लेने आए हो? लेकिन समीर कुछ नहीं कहता है| फिर श्रृष्टि अधरक ढूंढती है और समीर उसे अधरक दे देता है और समीर प्यार वाली हरक्कतें करने लगता है लेकिन श्रृष्टि उससे मना करती है और समीर नहीं मानता है| फिर अचानक श्रृष्टि का पैर फिसल जाता है और वो गिरने लगती है लेकिन समीर उसे पकड लेता है| फिर वहां जानकी आ जाती है और उन दोनों को एक साथ देख लेती है|

फिर जानकी श्रृष्टि से चाए लाने को कहती है और श्रृष्टि चाए बनाकर ले जाती है|

इधर करण प्रीता को उठाकर चलते – चलते थक जाता है और प्रीता उसे उतारने को कहती है| फिर करण प्रीता को उतार देता है और फिर वे दोनों पैदल चलने लगते हैं और कुछ समय बाद करण और प्रीता एक ढावा पर पहुँच जाते है और वहां खाना खाते है| फिर वे दोनों उसी ढावे पर नाचते – गाते मस्ती करते हैं| फिर मिकेनिक उनकी कार को सही कर के ले आता है और उस कार को देख कर प्रीता कहती है कि आज से पहले मुझे इतनी ख़ुशी कभी नहीं मिली जितनी आज मिली है| करण उससे ख़ुशी का कारण पूछता है|

प्रीता कहती है कि कार सही हो गई है इसलिए मैं बहुत खुश हूँ| उसकी बात सुन कर करण भी कहता है कि तुम्हे खुश देख कर मुझे भी बहुत ख़ुशी मिली है| फिर करण और प्रीता कार में बैठ कर मनाली होटल चले जाते हैं|

इधर राखी अपने खर जाती है और सरला से कहती है कि मैं दुआ करती हूँ कि करण और प्रीता यहाँ से गए हैं दो बन कर और माता रानी की कृपा से लोटें एक बन कर| उन्हें देख कर श्रृष्टि भी दुआ करती है लेकिन उसकी माँ सरला उसे चुप कर देती है| फिर राखी और समीर चले जाते हैं और श्रृष्टि अपनी माँ के पास रह जाती है|

इधर करण और प्रीता मनाली होटल पहुँच जाते है और वहां करण और प्रीता का बहुत अच्छी तरह से स्वागत करते हैं लेकिन करण एक मशहूर क्रिकेटर था इसलिए वहां के वर्कर्स करण के साथ फोटो खीचते है और कोई सेल्फी लेता है लेकिन प्रीता को वहां मायरा दिख जाती है और प्रीता मायरा को देख कर अच्म्बे में पड़ जाती है कि मायरा यहाँ कैसे?
(‘आगे की कहानी आने वाले एपिसोड में,)

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here