Kundali Bhagya 2 September 2020 Written Update : प्रीता ने की लूथरा के घर में वापसी, प्रीता लूथरा के घर में अपनी जगह बना पाएगी?

0

Kundali‌ ‌Bhagya‌ ‌1‌ ‌September‌ ‌2020‌ ‌Written‌ ‌Update,‌ ‌ Kundali‌ ‌Bhagya‌ ‌1‌ ‌September‌ ‌2020,‌ ‌ Kundali‌ ‌Bhagya‌ ‌1‌ ‌September‌ ‌2020‌ ‌Spoiler‌ ‌Alert,‌ ‌ Kundali‌ ‌Bhagya‌ ‌1‌ ‌September‌ ‌full‌ ‌episode‌ ‌ Zee5,‌ ‌ Zee‌ ‌TV,‌ ‌ Kundali‌ ‌Bhagya‌, Preeta,Mahira, Sharlin, Karan

Kundali Bhagya 2 September 2020 Written Update

कुंडली भाग्य के पिछले नाटक में दिखाया गया था की , किस तरह सरला प्रीता को घर से जाने के लिए कहती है | सृष्टि सरला को रोकती है तब सरला सृष्टि को थप्पड़ मार देती है | शर्लिन माहिरा की शादी का प्लान बनाती है | दादी माहिरा को लूथरा परिवार की बहू बनाने को बोल देती है | और वहीँ प्रथ्वी करण की जिंदगी बर्बाद करने की कसम खाता है | वहीँ पिछले नाटक के अंत में दिखाया गया था सरला प्रीता को गले लगा लेती है |

Kundali Bhagya 2 September 2020 Full Episode

कुंडली भाग्य के आज के लेटेस्ट एपिसोड में , सरला प्रीता को कहती है की , “तू उस घर के लोगों से इतना प्यार करती है की उनके लिए तू ढाल बनके खड़ी रही | तू कैसे भूल गयी की तू चाहे तो कुछ भी कर सकती है | शर्लिन माहिरा की कोई औकात नहीं है जो तुझे घर से बाहर निकाले |” सरला आगे कहती है की करण जो तेरे साथ शादी वाली रात किया था उसके लिए मैं उसे माफ़ नहीं कर सकती | लेकिन तूने शादी करण के लिए नहीं, महेश जी और उनके परिवार को बचाने के लिए की थी | Kundali Bhagya 4 September 2020 Written Update : करण प्रीता से शादी करने का सच कबूल कर पायेगा ?

वहीँ प्रथ्वी सरला के साथ हुई लड़ाई और सरला के द्वारा मारे गए थप्पड़ को याद करता है | फिर प्रथ्वी गुस्से में सरला के घर की तरफ गाडी घूमा लेता है | 

आगे सरला प्रीता को समझा रही होती है की, कभी – कभी अच्छो को बुराई दिखानी चाहिए | सरला कहती है , मुझे विश्वास है तू जो भी रास्ता चुनेगी वो सही होगा | आगे कहती है , जो इन्सान अपनी इज्जत नहीं बचा सकता, वो दूसरों के लिए नहीं खड़ा हो सकता | अपनी इज्जत और हक़ के लिए आवाज उठाने को कहती है | 

सरला कहती है, मैं तुझे आशीर्वाद देती हूँ | और ये भी बोलती है ये रास्ता इतना आसान नहीं है | तू ये जानती है की शर्लिन और माहिरा को हराना आसान नहीं है | तुझे कदम – कदम पर मुश्किलें सामने आएँगी | तुझे बीच में ऐसा करना पड़ेगा, जो तुझे पसंद ना हो | सरला कहती है हम तेरे साथ है | जब तू पुकारेगी मैं दौड़ी चली आउंगी | प्रीता कहती है जिसके साथ माँ होती है वो कुछ भी कर सकता है |  प्रीता माँ से कहती है , बहुत हुआ रोना -धोना , अब मैं अपना हक़ लुंगी , मैं अपने लिए लडूंगी | प्रीता उस घर में जाने का फैसला लेती है |

वहीँ करण को दिखाया जाता है की, वो किस तरह पुरानी यादों को याद करके , प्रीता अरोड़ा को कभी माफ़ ना करने का फैसला लेता है | करण कहता है की जो प्रीता का उसकी पत्नी बनाने के सपने को ना पूरा होने देने की कसम खाता है |

कुंडली भाग्य के आगे के नाटक में, दादी रमोना को चिंता ना करने को कहती है और आगे कहती है तेरी बेटी हमारी हुई | रमोना कहती है , जब राखी मानेगी , करण मानेगा, तब शादी मुमकिन है | करीना रमोना से कहती है परेशान ना हो , इस धोके की शादी को कौन मानता है | तभी वहां राखी आ जाती है | दादी राखी से कहती है की हमने एक फैसला लिया है , इस पर करीना कहती है करण और माहिरा की शादी कल सुबह करने का फैसला लिया है | 

तभी करण को बुलवाया जाता है , तब माहिरा करण को समझाती है की करीना आंटी ने कल हमारी शादी करने का फैसला लिया है | जिसे सुनकर करण और ऋषभ हैरान हो जाते है , तब करण ऋषभ की तरफ देखता है इस पर ऋषभ कहता है की मुझे क्या देख रहा है जबाब दे | लेकिन बाद में करण शादी के लिए मान जाता है |

वहीँ प्रथ्वी ड्रिंक करने के बाद प्रीता के घर चला जाता है | जब दरवाजे की घंटी बजती है तब सरला औरर जानकीं सोचते है की इतनी जल्दी प्रीता वापस कैसे आ सकती है , अभी तक तो वह वहां पहुंची भी नहीं होगी | जब दरवाजा खोला जाता है, सरला और जानकी प्रथ्वी को देखकर हैरान हो जाते है |

प्रथ्वी सरला से कहता है, सरला प्रथ्वी को जाने के लिए बोलती है | प्रथ्वी सरला से कहता है, मुझे आप बहुत पसंद और अपनी बेटी से शादी कराना चाहती थी | पप्रथ्वी कहता है की , मेरी जगह धोके से उस किल्ली -डंडे ने ले ली | सरला प्रथ्वी से कहती है , मैं मानती हूँ आपकी बेइज्जती हुई है | मैं उसके लिए आपसे हाथ जोड़कर माफ़ी मांगती हूँ | 

वहीँ आगे कहानी में – प्रीता बैग के साथ लूथरा हाउस पहुँच जाती है जिसको देखकर सभी लोग हैरान हो जाते है | माहिरा बोलती है की प्रीता को यहाँ से जाने के लिए बोलो | इस प्रीता कहती है की मेहमान जाते है जो तुम हो | अगर इस घर से कोई जाएगा , तो तुम जाओगी | तब शर्लिन प्रीता को माहिरा से बदतमीजी से बात करने के लिए टोकती है , कहती है तुम होती कौन हो , इस प्रीता कहती है ,”मैं मिसेस प्रीता करण लूथरा |” 

करण जैसे ही प्रीता के पास गुस्से जाता है तभी पीछे से महिलाओ के अधिकार के लिए लड़ने वाले NGO के लोग भी आ जाते है |  

Leave a Reply