Kundali Bhagya 29 October 2020 Written Update: प्रीता की हुई मुँह दिखाई की रस्म

0

Kundali‌ ‌Bhagya‌ ‌29 October ‌2020‌ ‌Written‌ ‌Update,‌ ‌ Kundali‌ ‌Bhagya‌ ‌29 October ‌2020,‌ ‌ Kundali‌ ‌Bhagya‌ ‌29 October ‌2020‌ ‌Spoiler‌ ‌Alert,‌ ‌ Kundali‌ ‌Bhagya‌ ‌29 October ‌full‌ ‌episode‌ ‌ zee anmol kundali bhagya natak Zee5,‌ ‌ Zee‌ ‌TV,‌ ‌ Kundali‌ ‌Bhagya‌, Preeta,Mahira, Sharlin, Karan

Kundali Bhagya 29 October 2020 Written Update

कुंडली भाग्य के पिछले नाटक में, प्रीता, महेश से जल्दी ठीक होने को कहती है वहीँ प्रीता और करण के बीच किचन में हुआ रोमांस| वहीँ शर्लिन, प्रीता को अपने से बड़ो की इज्जत मतलब अपने बारे में कहती है| वहीँ प्रीता भी शर्लिन को एक घटिया लड़की कहती है और आगे शर्लिन की सीक्रेट प्रेगनेंसी के बारे में बताती है और ये बही बताती है की वो जानती है की ये ऋषभ जी का नहीं| प्रीता, शर्लिन को सुधर जाने की बात कहती है| वरना एक बेहरूपिया घर से निकल चूका है और दूसरे का नंबर की बात कहती है| 

वहीँ राखी की बहन भी निम्मी वहां आ जाती है| और राखी से घर की छोटी बहू से मिलने की इच्छा जाहिर करती है| निम्मी प्रीता से मिलने के बाद बहुत तारीफ करती है| वहीँ सरला भी सृष्टि की शादी अपने पसंद के लड़के से करने की बात कहती है| और कहती है की वो उसकी शादी प्रीता जैसे ससुराल में नहीं करना चाहती है|            

Kundali Bhagya 29 October 2020 Full Episode 

कुंडली भाग्य के आज के नाटक में, निम्मी राखी से कहती है की उसने करण का मन रखने के लिए कहा था की प्रीता ठीक-ठाक है| निम्मी आगे कहती है की, चाहे प्रीता की शादी घूँघट की आड़ में हुई हो| लेकिन करण के लिए बहुत सही लड़की है और इसी को कहते है कुंडली भाग्य|

वहीँ करण भी चुपके से निम्मी की बाते सुनकर अच्छा महसूस करता है| और सोचता है की प्रीता की तारीफ सुनकर मुझे अच्छा क्यों लग रहा है| 

वहीँ सरला की तबियत ख़राब हो जाती है और सृष्टि से कहती है की आज प्रीता की मुह दिखाई है अगर उसके मायके से कोई नहीं होगा तो उसे कितना बुरा लगेगा| सरला दोनों को जाने को कहती है| फिर बाद में केवल सृष्टि को अकेले जाने को कहती है| सृष्टि भी प्रीता को विडियो कॉल कर बताती है की हम नहीं आ पाएंगे| वहीँ प्रीता को ये भी बताती है की माँ को बहुत तेज़ बुखार है इस लिए| जिसे सुनकर प्रीता परेशान होने लगती है| जिस पर सरला बताती है की केवल मौसम बदलने से बुखार आया है|

प्रीता समीर से कहती है की आज मेरा बहुत बड़ा दिन हैं| कम से कम सृष्टि ही यहाँ आ जाती| तभी समीर कहता है की भाभी आप परेशान ना हो मैं विडियो कॉल करके सब कुछ दिखा दूंगा| 

वहीँ शर्लिन भी अकेले प्रीता की बोली हुई बातों को याद करती है| तभी शर्लिन की माँ वहां आ जाती है और कहती है की मैंने सुना है कल रात को रमोना यहाँ से चली गयी| शर्लिन कहती है की माहिरा को भी यहाँ से निकाल दिया है| शर्लिन की माँ कहती है की इतनी बड़ी बात मुझे क्यों नहीं बताई| तभी शर्लिन जबाब देती है की अगर बता देती तो आप क्या कर लेती है| और शर्लिन सरला पर बहुत नाराज होती है और कहती है की सरला लुथ्र्रा परिवार के काम में टांग अडाती है| आगे कहती है की सरला बहुत शातिर है वो जैसी दिखती है वैसी नहीं है|

शर्लिन की माँ कहती है की माहिरा ने जो किया उसके चलते उसे घर से निकाल दिया| आगे कहती है की मुझे डर है की कही तुझे भी घर से ना निकाल दे| शर्लिन अपनी माँ से कहती है की,करीना आपकी अच्छी दोस्त है फिर भी उसका कुछ फयदा हुआ| लेकिन सरला का यहाँ कोई दोस्त नहीं है फिर भी माहिरा को घर से निकलवा दिया| शर्लिन अपनी माँ से कहती है की कुछ भी करो या ड्रामा करो लेकिन प्रीता को घर से निकलवा दो| शर्लिन की माँ शर्लिन से कहती है की अब देख तेरे लिए मैं क्या करती हूँ| आगे कहती है की सरला ने तो जड़ ही काटा है मैं पेड़ ही काट दूंगी| आगे कहती है की आज मुँह दिखाई की रस्म में कोई भी प्रीता को पसंद नहीं करेगा| 

वहीँ निम्मी, राखी के साथ करीना को देखकर कहती है की, करीना आज भी सुधर गयी है या आज भी वैसी ही है| वहीँ करण, ऋषभ से झगडा करता है की तू पहले कमरे में आकर प्रैक्टिस के लिए मुझे उठाता था लेकिन अब क्यों नहीं आता| ऋषभ जबाब देता है की तेरी शादी हो गयी है अगर मैं बिना नॉक के तेरे कमरे में आऊंगा तो तुझे अच्छा लगेगा| आगे कहता है की प्रीता अब तुझे प्यार से उठाएंगी|

Kundali Bhagya नाटक में आगे,तभी प्रीता वहां आ जाती है| राखी सभी लोगो का शुक्रिया अदा करती है की वे सभी लोग प्रीता की मुहँ दिखाई में आये| आगे दादी माँ को कार्यक्रम की शुरुआत करने को कहती है| तभी एक मेहमान राखी से कहती है की आज कल पति-पत्नी के बीच सब कुछ हो जाता है और करण को ही मुँह दिखाई की रस्म शुरू करने को कहती है|

तभी करण घबराते हुए कहता है की मेरी मुह दिखाई की रस्म हो चुकी है और आगे कहता है की मैं तो प्रीता का चेहरा देख चूका हूँ| तभी राखी समझाती है की रस्म है इसलिए| और करण को प्रीता का चेहरा देखने के लिए बुलाती है| करण, प्रीता के पास आता है तभी एक मेहमान टोकती है की चेहरा देखने से पहले कुछ तोफा देना पड़ता है| तभी करण कहता है की मैंने इसको अपना घर दे दिया कमरा दे दिया यहाँ तक की AC का रिमोट दे दिया| अब क्या दूँ? जिसे सुनकर सभी लोग हंसने लगते है|

राखी, करण को प्रीता को अंगूठी देने के लिए देती है| करण, प्रीता के घूँघट में घुस जाता है जिसे देखकर सभी लोग कहते है की इसे प्रीता का चेहरा देखने को बोला था और ये तो घूँघट में ही घुस गया| निम्मी कहती है की इसे को बोलते है अन्दर का प्यार| 

वहीँ प्रीता करण से कहती है ये क्या कर रहे हो| यहाँ पर इतने सारे लोग है| और करण को बाहर जाने को कहती है| करण कहता है मुझे तुमसे बात करनी थी और तुम बिजी थी| प्रीता कहती है की यते समय मिला है बात करने का| करण कहता है की तुम खाने में क्या मिलाती हो और पानी में कौन-सी घुट्टी मिलाती हो| जिससे सभी लोग तुम्हारी साइड लेते है| आगे कहता है की मैं भी तुम्हारी केयर करने लगा हूँ 

वहीँ प्रीता कहती है की तुम्हे पता है तुम क्या कह रहे हो| और जो कुछ भी हो रहा है उसमें मेरी क्या गलती| वहीँ करण बातो में झगड़ते हुए कहता है की ये अंगूठी मम्मी ने दी है मैंने नहीं| इनकी ये देखकर सभी लग हँसते है| निम्मी कहती है की करने दो ना| पति-पत्नी है| जिसे देखकर करीना थोडा नाराज होती है और दादी से कहती है की प्रीता को क्या जरुरत थी करण को खींचने की| दादी कहती है प्रीता ने नहीं करण खुद गया है और लोग को भी कोई परेशानी नहीं है तो चुप रहो|

वहीँ ऋषभ भी समीर से कहता है की घर के सभी बड़े खड़े है तो क्या जरुरत थी ये सब करने की| समीर कहता है की जब ये दोनों नहीं शर्मा रहे हो तो आप क्यों शर्मा रहे हो| आगे कहता है की करने दो ना|

Leave a Reply