Kundali Bhagya 31 August 2020 Written Update – प्रीता और सृष्टि पहुंची घर, सरला ने प्रीता को निकाला घर से

0

Kundali Bhagya 31 August 2020, Kundali Bhagya 31 August 2020 Written Update, Kundali Bhagya 31 August 2020 full episode, Preeta, Mahira, Srishti, Karan, Zee5,Zee TV

Kundali Bhagya 31 August 2020 Written Update

कुंडली भाग्य के पिछले नाटक में किस तरह करण प्रीता को चालबाज और धोकेबाज लड़की समझता है | वहीँ दूसरी तरफ माहिरा प्रीता को अपने परिवार के साथ कहीं चले जाने को कहती है | इतना ही नहीं माहिरा प्रीता और उसके परिवार के लोगों को जान से मारने की धमकी देती है | वहीँ शर्लिन भी प्रीता को बता देती है की उसके होने वाले बच्चे के बाप ने ऋषभ का किडनैप कराया था |

Kundali Bhagya 31 August 2020 Full Episode Story [HINDI]

31 August 2020 के लेटेस्ट episode में नाटक जब सरला प्रथ्वी को थप्पड़ मार देती है तब प्रथ्वी सरला से कहता है की आपको लगता है ये सब मैं कहा रहा हूँ , लेकिन ये सब बाते बाहर लोग बोल रहे है | तब प्रथ्वी सरला को और थप्पड़ मारने को कहता है, तब सरला प्रथ्वी को घर के बाहर जाकर अपने को थप्पड़ मारे |

सरला कहती है, तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई मेरी बेटी के बारे में गंदे शब्द इस्तेमाल करने की | आगे सरला प्रथ्वी को कहती है, एक समय था जब तुम इस घर के होने वाले दामाद थे | सरला आगे कहती है की भगवान भी आकर प्रीता के बारे में बोलेंगे तभी में उन पर विश्वास नहीं करुँगी | तुमको शर्म नहीं आती प्रीता के बारे में इतने गंदे शब्द इस्तेमाल करने में | सरला प्रथ्वी को घर से निकल जाने को कहती है |  

प्रथ्वी सरला को कहता है , अगर ये रीतीरिवाज बदल जायेंगे तो मेरे से ज्यादा खुश इन्सान कौन होगा | आप जिसको आप अपना दामाद बनाना चाहती, वो खुद प्रीता को नहीं अपनाना चाहता | प्रथ्वी सरला पर दबाब बनता है की कहीं अपने शादी को स्वीकार तो नहीं कर लिया | 

प्रथ्वी कहता है, आप चाहकर भी वो क्रिक्केटर को दामाद नहीं स्वीकार कर सकती | वो क्या उसका पूरा परिवार प्रीता को नहीं स्वीकार करेगा |, सिवाए मेरे | इस पर जानकी प्रथ्वी से कहती है की खुद से जयेगा या बेइज्जती करा के जायेगा | जानकी प्रथ्वी का हाथ पकड़ कर बाहर निकालने की कोशिश करती है तो प्रथ्वी धक्का मार देता है | जिस पर सरला भड़क जाती है और प्रथ्वी को घर से बाहर निकाल देती है | प्रथ्वी के जाने के बाद हवा से अपने आप दरवाजा खुल जाते है इस पर जानकी कहती है की तूफान आने वाला | Kundali Bhagya 1 September 2020 Written Update – सरला ने निकाला प्रीता को घर से बाहर,प्रीता की जिंदगी में आया नया मोड़

कुंडली भाग्य में आगे की कहानी में, राखी महेश का हाथ पकड़ कर कहती है, आज मैंने जो किया वो सही किया या गलत | अगर आप मेरी जगह होते तो शायद यही करते | प्रीता ने आज जो भी किया वो गलत नहीं था | अपने ही पति के साथ दुवारा शादी करके क्या गलती की |

राखी कहती है की , मैं तो प्रीता को यही रोकना चाहती थी लेकिन घर का माहोल बहुत बदल गया है | पहले प्रीता के घर में आने से सब खुश हो जाते थे | लेकिन आज प्रीता से सब नफरत करते है | इस नफरत के माहोल में साँस लेते-लेते प्रीता घुट जाती, इसलिए मैंने उसको जाने के लिए बोल दिया | राखी कहती है की मैं बहुत अकेली हो गयी हूँ मुझे आपकी जरुरत है | तभी वहां करीना आ जाती है , और कहती है , भाभी अपने आपको अकेला मत समझो, पूरा परिवार आपके साथ है | हम पहले आपको कमजोर समझते थे , प्रीता को जाने के लिए बोलकर साबित कर दिया आप कमजोर नहीं है |

करीना कहती है, आज सब घर में आपके बारे में बात कर रहे है | और प्रीता ने किस तरह घूँघट की आड़ में धोके से शादी कर ली | इतना सुनते ही राखी वहां से करण के पास जाने को कह कर चली जाती है |

आगे कहानी में, प्रीता अपने घर पहुँच जाती है | सरला प्रीता को शादी के जोड़े और मांग में सिंदूर देखकर हैरान हो जाती है | प्रीता सरला को गले लगने वाली होती है , सरला प्रीता को रोक देती है | सृष्टि सरला को कहती है की करण की शादी दी से हो गयी | जिसे सुनने के बाद सरला प्रीता को घर से बाहर निकल जाने को कहती है | जिसे सुनकर प्रीता हैरान हो जाती है | 

वहीँ दूसरी तरफ करण कमरे में शराब पी रहा होता है और पुरानी यादो को याद करता है तभी राखी वहां आ जाती है | राखी कहती है की तू ड्रिंक तब करता है जब खुश होता है मैं नहीं चाहती की तू गुस्से में पिए | करण कहता है ना मैं गुस्से में हूँ , ना ही दुखी हूँ | राखी कहती है की अगर तेरे मन में कोई बात है तो शेयर कर | करण कहता की मैं थोड़ी देर अकेला रहना चाहता हूँ |

सरला गस्से से प्रीता को घर से निकल जाने की लिए फाॅर्स करती है | जब बीच में सृष्टि समझाना चाहती है तब सरला सृष्टि को बीच में ना बोलने के लिए कहती है | 

सरला प्रीता से कहती है तू यहाँ से शादी में शामिल होने के लिए कह कर गयी थी | सरला कहती है जब करण ने तेरे से धोके से शादी की थी | तब उसने बोला था की वो तेरे से प्यार करता है | उसने विश्वास दिलाया इसलिए तुजे विदा किया था | जब उसने तुझे घर से बाहर निकाल दिया था, तब मैंने तुझे घर में बुलाया था | लेकिन तूने धोका दिया है | तूने अपनी मर्जी से उस लड़के से शादी की है जिसने तुझे धोका दिया |

सरला कहती है , उन लोगों ने फिर से धक्के मारकर निकाला होगा | स्वभिमान नाम की चीज़ नहीं है | मैंने यही सिखाया है तुझ को | सरला गुस्से से कहती है की , तूने उस लड़के से शादी कर ली जो तेरी इज्जत करना नहीं जानता |

Leave a Reply