Kundali bhagya 9 November 2020 Written Update: प्रथ्वी शर्लिन से कहता है की,”माहिरा, प्रीता को घर से बाहर फैंकने वाली है|”

0

Kundali‌ ‌Bhagya‌ ‌9 November ‌2020‌ ‌Written‌ ‌Update,‌ ‌ Kundali‌ ‌Bhagya‌ ‌9 November ‌2020,‌ ‌ Kundali‌ ‌Bhagya‌ ‌9 November ‌2020‌ ‌Spoiler‌ ‌Alert,‌ ‌ Kundali‌ ‌Bhagya‌ ‌9 November ‌full‌ ‌episode‌ ‌ zee anmol kundali bhagya natak Zee5,‌ ‌ Zee‌ ‌TV,‌ ‌ कुंडली भाग्य आज का नाटक कुंडली भाग्य नाटक Kundali‌ ‌Bhagya‌, Preeta,Mahira, Sharlin, Karan

Kundali Bhagya 9 November 2020 Written Update 

कुंडली भाग्य के पिछले नाटक में, प्रीता, करण से कहती है की, मैं नहीं चाहती हूँ की माहिरा हमारे परिवार और शादी के बीच में आये| अभी करण, प्रीता से वादा करता है की माहिरा हमारी शादी के बीच नहीं आएगी| ये सब बोलने के बाद करण अपने आप से कहता है के मैंने इतना बड़ा वादा प्रीता से कैसे कर दिया| आगे करण सोचता है की मुझे ये क्या होने लगा है की इसको परेशानी होती है तब मुझे दुःख क्यों होता है|

प्रीता ने दी करण को चेतवानी,”माहिरा तुम्हे पाने के लिए कुछ भी कर सकती है”

माहिरा भी करण के हाथो से दवाई खाने की जिद करती है और करण माहिरा को दवा खिलाने उसके कमरे में चला जाता है| माहिरा को करण बहुत समझाता है और कहता है की कोई भी माँ अपने बच्चे से नाराज नहीं रह सकती| वहीँ प्रथ्वी शर्लिन को माहिरा की सच्चाई बता देता है की माहिरा ने अपनी नस नहीं काटी है| प्रीता भी माहिरा को उसकी हरकतों देख धमकी देती है और कहती है की मेहमान हो महमना की तरह रहो|     

bollypluse, bollypluse write for us
https://bollypluse.in/write-for-us/

Kundali Bhagya 9 November 2020 Full Episode         

कुंडली भाग्य के आज के नाटक में, प्रीता माहिरा की कटी हुई कलाई पकड़कर कहती है क्यों ना डॉक्टर से कटवाई जाए ताकि बचने के कोई चांस ना रहे| तभी प्रीता माहिरा की कलाई से पट्टी निकाल देती है फिर माहिरा सबके सामने प्रीता की हरकत बाताने के लिए आगे बढती है जिस पर प्रीता माहिरा को बोलती है की तुम्हारी कलाई पर कोई जखम नहीं है| आगे प्रीता माहिरा से कहती है की मैं जानती हूँ की किस तरह से तुमने सबके इमोशन से खेली रही हो| जिस पर माहिरा हैरान रह जाती है|

प्रीता, माहिरा को बोलती है की तुम करण से प्यार नहीं करती हो| वो तुम्हारी जिद है| आगे बताती है की, जब एक इन्सान अपने साथ इस तरह की हरकत करता है तब वह अपने साथ पूरे परिवार को भी तकलीफ देता है| और तुमने इस चीज़ का भद्दा मजाक बना रक्खा है| आगे बोलती है की तुम परेशान हो की ये सब मुझे कैसे पता| दरसल होता यह की सृष्टि प्रीता को माहिरा के बारे में सबकुछ बता देती है|

प्रीता, माहिरा को कहती है की, मैं ये बात सबको बताने वाली हूँ| और ना ही करण की पत्नी बनने का खवाब पूरा हो पायेगा| ये सब बोलने के बाद जैसे ही प्रीता जाने की कोशिश करती है माहिरा कमरे का दरवाजा बंद कर देती है| माहिरा, प्रीता को धमकी देती है की अगर तुमने बाहर किसी को कुछ भी बताया तो जिन्दगी भर पछताओगी| लेकिन प्रीता वहां से चली जाती है|

प्रीता नीचे सबके सामने आकर बोल देती है की माहिरा को कुछ नहीं हुआ है| वो ठीक है| लेकिन माहिरा, प्रीता की बात काटते हुए कहती है की ये मेरे से जल रही है इसलिए ये सब बोल रही है| प्रीता, माहिरा का हाथ पकड़कर दिखाने की कोशिश करती है लेकिन माहिरा अपना हाथ खींच लेती है और कहती है की तुम मेरा परिवार मत छीनो| जिस पर प्रीता बोलती है की ये किसी से प्यार नहीं करती है और ना ही करण से| ये बस करण को पाना चाहती है|

प्रीता सबके सामने कहती है की, इसने कोई कलाई नहीं काटी है| इसने सिर्फ अपने हाथ पर खरोंच की है| आगे करण से बोलती है की अभी थोड़ी देर पहले तक इसको चक्कर आ रहे थे लेकिन अब ये मेरे पर चींख रही है लेकिन इस पर कोई फर्क नहीं| इस माहिरा कहती है की, हाँ, आ गयी ताकत जिसका तुम फायदा उठा रही हो| इस पर प्रीता बोलती है की फायदा तुम उठा रही हो, मेरी भोली वालीफॅमिली का| आगे बोलती है की, तुम सबको भटका रही हो|

इस पर माहिरा बोलती है की तुम सबको भटका रही हो| और माहिरा सबको प्रीता की करण से हुई धोके से शादी के बारे में फिर से बोलती है| आगे बोलती है की, परिवार मुझे प्यार करे या ना करे तब भी मैं जी लुंगी| लेकिन करण का प्यार ना मिले तो मैं मार जाउंगी| ये सब सुनकर सभी लोग हैरान हो जाते है| तब माहिरा प्रीता से बोलती है की तुम ये साबित करो की मैंने कलाई नहीं काटी है और मैं ये साबित करती हूँ की मैं करण से कितना प्यार करती हूँ| और फिर माहिरा कलाई फिर से काटने के लिए एक कांच के टुकड़े से अपनी कलाई काट लेती है| और करण से कहती है की तुम मुझे पत्नी के तौर स्वीकार कर लो| और फिर माहिरा बेहोश हो जाती है|

करीना, प्रीता पर नाराज होती है की, तुम कितना गिरोगी| दरसल ये सब प्रीता सोच रही होती है| तभी माहिरा, प्रीता से बोलती है और कहती है की, कहीं तुम ये सब तो नहीं सोच रही की मैंने सबके सामने फिर से कलाई काट ली और किसी ने तुमको धक्का दिया| माहिरा प्रीता से बोलती है की तुमको समझ आ गया होगा, की मैं सच में कलाई काट सकती हूँ| आगे बोलती है की मैं करण के प्यार में मर भी सकती हूँ और मार भी सकती हूँ| जिस पर प्रीता हैरान रह जाती है|

तभी शर्लिन कमरे में आ जाती है| और माहिरा कहती है की प्रीता को सब कुछ पता चल गया| आगे बोलती है ये सबको बताना चाहती थी लेकिन सही समय पर रुक गयी| आगे माहिरा कहती है की, अगर ये सब मैंने किया तो लूथरा परिवार के साथ करण भी जेल जायेगा| इस पर शर्लिन बोलती है की, इन सबके लिए मैं इसका साथ दूंगी| जिस पर प्रीता फिर से हैरान हो जाती है| 

शर्लिन, प्रीता से कहती है की, तुम भी हमें घर से निकालना चाहती थी| जैसे को तैसा| आगे बोलती है की माहिरा का पलड़ा भारी हो तो मैं इसका साथ दूंगी| इस पर प्रीता कहती है की, हसो, बुराई के साथ यही होता है की वो अंत तक हस्ती है| आगे बोलती है की, आज मैं माहिरा के बारे में किसी को नहीं बताने वाली हूँ| क्योंकी तुम्हारा पलड़ा भारी है लेकिन हमेशा नहीं होगा| आगे बोलती है, एक दिन तुम्हारा सच सबके सामने लेकर आउंगी| वो दिन बहुत भयानक होगा| आगे बोलती है की वो दिन आने तक मैं तुम्हारावो हाल करुँगी| जिस पर तुम्हे ये लगेगा की तुम इस घर में क्यों आई|

इस शर्लिन हंसती है और ताली बजाती है और कहती है की, ये तुम्हारी धमकी अपने पास रक्खो| हम पर कोई फर्क नहीं पड़ता| आगे बोलती है की, बहुत जल्द तुम्हारा इस घर जाने का समय आ गया है| प्रीता, माहिरा से कहती है की, करण तुमसे प्यार नहीं करता है| आगे बोलती है की, आदमी कुत्ता पाले, बिल्ली पाले जैसी तुमने ये शर्लिन पाल रक्खी है लेकिन गलत फहमी ना पाले| प्रीता वहां से चली जाती है| शर्लिन, माहिरा से कहती है की, तुम कुछ ऐसा करो जिससे वह प्रीता को अपने कमरे और जिन्दगी से निकाल कर फैंक दे| शर्लिन, माहिरा से बोलती है की अपनी माँ से बात करो| उस तरह से जिस तरह से तुम्हारी माँ ने प्लान बनाया था लूथरा हाउस में रीन्ट्री का| इस पर माहिरा डर-डर के पूछती है तुमको कैसे पता| 

माहिरा अपने माँ के पास जाती है| लेकिन उसकी माँ कहती है की तुमने गलती है की, की तुम उसको चुनौती दे आई| आगे बोलती है की इस बार मैं प्रीता का गायत्री जैसा हाल करुँगी|

Leave a Reply