क्या सच्चाई है प्रियंका गाँधी की 1000 बसों के पीछे

0

Lockdown के चलते प्रभासी मजदूर के सामने एक अलग परेशानी सामने आ खड़ी है ये मजदूर अपनी जीवनी चलाने के लिए रोज कमा कर खाने वालो में से एक थे |

lockdown के चलते इनके पास कोई बचत की नकदी नहीं थी जिससे यह प्रभासी मजदूर बिना रोजगार के इस lockdown में रह सके |

जबसे lockdown हुआ है तब से सभी कारखाने, ऑफिस आदि बंद हो चुके है | जिसके कारण जो लोग बाहर के राज्यों से दूसरे राज्यों में काम करने के लिए आते है | अब वह अपने घर जाना चाहते है |

इसी समस्या को देखते प्रियंका गाँधी ने 1000 बसों का इन्तेजाम किया | लेकिन इसी के चलते उन पर यह आरोप लग रहे है की उन्होंने बसों के अलावा कुछ दूसरे वाहनों के नंबर भी दे दिए | जो बस की श्रेणी में नहीं आते |

कुछ ऐसे प्रभासी मजदूर है जो किसी भी तरह की ट्रांसपोर्ट सुविधा के आभाव में अपने परिवार के साथ ही पैदल ही घर की तरफ निकल चुके है |

जब सरकार से मिडिया ने और लोगों ने इस बारे में पूछा की जो लोग पैदल ही घर की तरफ जा रहे है | उनके लिए किसी भी तरह की ट्रांसपोर्ट सुविधा क्यों नहीं की जा रही है ?

इस पर सरकार का कहना है की उन्होंने प्रभासी मजदूरों के लिए श्रमिक ट्रेन और बसों का इन्तेजाम किया है | लेकिन जो प्रभासी मजदूर घर की तरफ पैदल ही निकल चुके है उनको इस बारे में कोई खबर नहीं मिल पा रही है |

भारत में कुछ – कुछ जगहों पर ट्रांसपोर्ट की सुविधा ना मिलने पर प्रभासी मजदूर द्वारा हंगामे की खबर भी देकने को मिल रही है |

अहमदाबाद में प्रभासी मजदूर द्वारा हंगामें की खबर सामने आई | जिससे पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागने पड़े | जिसके बाद 35 लोगों की गिरफ्तारी हुई |

अब बात करते है जो लोग प्रियंका गाँधी बस घोटाला bol रहे है | प्रियंका गाँधी द्वारा प्रभासी मजदूरों के लिए 1000 बसों का इन्तेजाम किया तो उसमे कुछ बीजेपी नेताओं का कहना है की जो बस के नम्बरों की सूचि वेबसाइट पर अपलोड की है |

उनमें से कुछ बस नंबर ऑटो, कार, बाइक के है | इस पर प्रियंका गाँधी का कहना है की बीजेपी सरकार ऐसा इसलिए कर रही है |

जिससे कांग्रेस प्रभासी मजदूरों की मदद ना कर सके | सड़क दुर्घटनाओ के चलते | 65 लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा | इसी के चलते प्रियंका गाँधी ने 17 मई को 1000 बसों का इन्तेजाम किया |

priyanka gandhi vadra request to cm yogi

जिससे मजदूर सही सलामत अपने घर भी जा सके | प्रियंका गाँधी ने यह भी बोला | सड़क दुर्घटनाओ का यह आंकड़ा वायरस से भी ज्यादा है |

बाद में उत्तर प्रदेश CM योगी आदित्य नाथ ने बसों को चलाने की इजाजत मिल गयी | 

Leave a Reply