नोएडा में हुआ प्राइवेट लेवों का पर्दा फास, लोगों की गलत जाँच रिपोर्ट देती थी !

0

नोएडा – नोएडा में कई प्राइवेट लेव्स ऐसी पकड़ी गईं है। जो कोरोना बायरस के शिकार हुए लोगों की अच्छी तरह से जाँच नहीं कर रही है। इसी कारन से लोग डरते है जांच कराने से क्योकि जो लोग नोएडा की प्राइवेट लेवों में कोरोना बायरस के मरीजों के बीच निकले 35 लोग नेगेटिव जबकि उन्हे कोरोना बायरस जैसी घातक बीमारी नहीं थी। फिर भी उन्हें कोरोना बायरस के मरीजों में घोसित कर दिया गया। जब उन मरीजों का टेस्ट सरकारी लेवों में हुआ तो उनमे से 35 मरीज निकले नेगेटिव। इसलिए नोएडा की एक प्राइवेट लेव को सील कर उसपर  एफ आई आर दर्ज की गई है। और नोएडा की बाकि प्राइवेट लेवों को नोटिश भेज दिया गया है। ताकि सही तरीके से करें जांच। अगर ऐसा ही चलता रहा तो कोई भी जांच कराने नहीं आएगा। अभी तो कुछ लोगों को कोई थोड़ी सी परेशानी आए तो डॉक्टरों के पास आते जाँच कराने कि कंही हम भी तो नहीं हुए कोरोना बायरस के शिकार। अगर ऐसे में लोगों को पता चले की चाहे कोरोना बायरस की शिकायत हो या न हो फिर भी उन्हें कोरोना बायरस के मरीजों में घोसित कर दिया जाता है। तो आप ही बताएं कि कोन आएगा जाँच कराने के लिए। ऐसे में लोग डरेंगे की अगर हमें कोरोना बायरस की हो या न हो तब भी हमें कोरोना बायरस के मरीजों में घोसित कर दिया जायेगा। ये सोचकर अपने घर में छुपके और बैठ जाएंगे। फिर चाहे उन्हें कोरोना बायरस जैसी खतरनाक बीमारी क्यों न हो। इससे लोगों की परेशानियां और बढ़ जाएगी। और कोरोना बायरस बहुत तेजी से फैलने लगेगा। 

नोएडा में एक प्राइवेट लेव पर एफ आई आर दर्ज करदी गई है। जो बाकी की प्राइवेट लेव है उनके लिए नोटिश जारी करदिये गए है। उनपर भी मुक़दमा चलाया जायेगा। इसलिए उनके लिए यही बेहतर होगा की लोगों की अच्छी तरह से जाँच कर उन्हें  कोरोना बायरस जैसी खतरनाक बीमारी से छुटकारा दिलाने की कोशिस करें। ताकि हम लोग इस खतयनाक कोरोना बायरस जैसी बीमारी पर विजय प्राप्त कर सके।  

Leave a Reply